फिर पकड़ाया बड़ा आईपीएल सट्टा!

 

 

पेंच के रिसोटर्स में चल रही अवैध और संदिग्ध गतिविधियां!

(अय्यूब कुरैशी)

सिवनी (साई)। पुलिस को एक माह में तीसरी बार आईपीएल क्रिकेट सट्टा पकड़ने में कामयाबी मिली है। इस बार यह सट्टा देश – विदेश में पहचान बना चुके मोगली की कथित कर्मभूमि पेंच नेशनल पार्क के एक रिसोर्ट में चल रहा था। इसके पहले भी इन रिसोटर््स में अवैध गतिविधियों के संचालन के मामले प्रकाश में आ चुके हैं।

पुलिस सूत्रों ने बताया कि पेंच नेशनल पार्क के टुरिया ग्राम के सफारी कैंप नामक होटल में बुधवार की रात पुलिस ने घेराबंदी करते हुए आईपीएल के मैच में दांव लगवा रहे तीन आरोपियों को धर दबोचा है। यह कार्यवाही मुखबिर की सूचना के आधार पर की गयी है। इस कार्यवाही से कुरई पुलिस की कार्यप्रणाली पर सवालिया निशान खड़े हो रहे हैं।

बहरहाल सूत्रों ने बताया कि जिला पुलिस अधीक्षक ललित शाक्यवार को किसी मुखबिर के जरिये जानकारी मिली कि पेंच के रिसोटर््स में आईपीएल का सट्टा चल रहा है। पुलिस अधीक्षक के द्वारा तत्काल ही उप निरीक्षक देवकरण डेहरिया, सहायक उप निरीक्षक डी.आर. शरणागत, प्रधान आरक्षक अमित यादव, देवेंद्र जैसवाल, योगेश राजपूत, संदीप दीक्षित का दल बनाकर उन्हें कुरई रवाना किया गया।

सूत्रों की मानें तो इस पूरे ऑपरेशन की जानकारी कुरई के थाना प्रभारी के.एस. बघेल को अंतिम समय तक नहीं दी गयी थी। पुलिस का यह दल जब कुरई थाना पहुँचा तब थाना प्रभारी को जानकारी दी गयी। सूत्रों ने कहा कि अपने किसी पारिवारिक कार्यक्रम में व्यस्त होने के कारण थाना प्रभारी इस दल के साथ नहीं गये पर उनके द्वारा इस दल को पूरा – पूरा सहयोग प्रदान किया गया।

सूत्रों ने आगे बताया कि पुलिस की इस टीम को तीन रिसोर्ट्स की तलाशी लेने के निर्देश दिये गये थे। दल के द्वारा सबसे पहले सफारी कैंप जाकर उसकी तलाशी ली गयी। यहाँ से कमरा नंबर दो में विक्रांत सिह परिहार (40) पिता विजय परिहार, निवासी वार्ड नंबर 17 बालाघाट, रामानंद गिरी (45) पिता चंद्र मोहन निवासी आधार ताल जबलपुर एवं आशीष उर्फ नीलेश गोस्वामी (45) पिता दामोदर गोस्वामी निवासी बालाघाट को ऑन लाईन सट्टा खिलाते हुए पकड़ा गया।

सूत्रों ने बताया कि आरोपियों के द्वारा 19 अप्रैल से ऑन लाईन सट्टा खिलाने के प्रमाण उनके लैपटॉप और पेन ड्राईव से मिले हैं। आरोपियों ने पूछताछ के दौरान बताया कि वे आईपीएल के अंतर्गत रॉयल चैलेंजर बैंगलोर एवं किंग्स इलेवन पंजाब के मध्य चल रहे मैच में दांव लगवा रहे थे।

सूत्रों ने आगे बताया कि सफारी कैंप का मालिक कोई और है लेकिन खवासा निवासी शैलेंद्र द्विवेदी उर्फ चिंटू के द्वारा इस रिसोर्ट को लीज़ पर लिया गया है। आरोपियों को रिसोर्ट मालिक के द्वारा बिना किसी इंद्राज (एंट्री) के होटल में रूकवाया गया था। आरोपियों के द्वारा बताया गया कि उनके द्वारा सारा का सारा हिसाब और आंकड़े गोंदिया निवासी बड़े सट्टा व्यवसायी सोंटू जैन को दिये जा रहे थे।

सूत्रों ने यह भी बताया कि पेंच के रिसोर्ट में कौन आकर रूक रहा है, इस संबंध में रिसोर्ट संचालकों के द्वारा कुरई पुलिस को जानकारी नहीं दी जाती है। सूत्रों की मानें तो अगर पेंच रिसोर्ट के संचालकों के द्वारा कुरई पुलिस को रोज ही आगंतुकों की सूची दे दी जाये तो पुलिस को इससे काफी हद तक मदद मिल सकती है। ज्ञातव्य है कि सिवनी शहर के होटल्स संचालकों के द्वारा रोज ही उनके होटल में रूकने वालों की सूची हर दिन कोतवाली पुलिस को आवश्यक रूप से दी जाती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *