गर्मियों में इस तरह बचें लू से

 

 

 

 

लगातार तीन दिन से 42 डिग्री का तामपान बना हुआ है। चिलचिलाती धूप में गर्म हवाएं तेज चलने लगी है। इससे लू लगने का खतरा बढ़ गया है। गर्मियों में लू से बचने के लिए सावधानी बरतनी चाहिए। इससे लू लगने का खतरा कम हो जाता है।

लू लगने के लक्षण

गर्मी के मौसम में गर्म हवा और तेज धूप होने से लू लगने का खतरा बढ़ जाता है। लू लगने पर शरीर में थकान महसूस होने लगता है। साथ ही तेज बुखार, चक्कर आना, दस्त, सिरदर्द, बार-बार प्यास लगना इसके प्रमुख लक्षण है।

लू से बचाने के उपाय

गर्मियों में लू से बचने के लिए धूप में निकलते समय छाते का उपयोग करना चाहिए। कोशिश यह करें की धूप में कम से कम बाहर निकले। लेकिन जरूरत पड़ने पर सिर ढक कर और पूरे ढके हुए कपड़े पहन कर बाहर निकलना चाहिए।

तेज धूप से घर वापस आते ही पानी नहीं पीना चाहिए। कम से कम 30 मिनट आराम करने के बाद पानी में नींबू और नमक मिलाकर पीने से लू का खतरा कम हो जाता है। ध्यान रहे की सड़क पर चलते समय भी तेज धूप में पानी न पीये।

खाली पेट घर से बाहर तेज धूप में न निकले। गर्मी के मौसम में हल्का भोजन करना चाहिए। भोजन के साथ दही और छाछ पीने से लू लगने का खतरा कम रहता है। भोजन के साथ प्याज खाने लू नहीं लगता।

लू लग जाने पर करें 5 आसान उपाय

हर साल लू लगने से अस्पताल में मरीजों की संख्या बढ़ जाती है। लेकिन घरेलू उपाय करने से लू के खतरे को कम किया जा सकता है। इसके लिए 5 आसान उपाय का इस्तेमाल कर सकते है।

– सबसे पहले मरीज को ठंडी और छायादार जगह में बिठाएं, कपड़े ढीले कर दें, पानी पिलाएं और ठंडा कपड़ा उसके शरीर पर रखें।

– लगातार तरल पदार्थ देकर उसके शरीर में पानी की कमी को पूरा करना चाहिए। हाथ-पैरों की हल्के हाथों से मालिश करें। तेल न लगाएं।

– पानी में नमक व चीनी का घोल बानकर पिलाए। कमजोरी होने की स्थिती में ORS का घोल दिन में तीन बार दें।

– आराम न होने पर फौरन डॉक्टर से सलाह लें।

(साई फीचर्स)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *