चिलचिलाती धूप में बसों का इंतजार!

 

 

बाहुबली चौराहा पर लगता रहा जाम

(अखिलेश दुबे)

सिवनी (साई)। शुक्रवार 26 अप्रैल से ही यात्री और शालेय परिवहन में लगी बसों के अधिग्रहण की कार्यवाही से सड़कों पर बसों का टोटा साफ दिखायी दिया। शुक्रवार को स्कूली बच्चों के साथ ही बसों से सफर करने वाले परेशान होते रहे। स्कूल बसें न आने से अधिकांश बच्चे स्कूल नहीं जा पाये। शादियों के सीजन में आने – जाने वाले यात्री भी दिन भर परेशान हुए।

स्कूलों में नजारा यह रहा कि बस न आने से पैरेन्ट्स ने बच्चों को स्कूल छोड़ा और फिर वापस लेने पहुँचे, तो सरकारी और निजि बस स्टैण्ड के साथ ही शहर के अघोषित बस स्टैण्डों में चिलचिलाती धूप में बोरिया बिस्तर लिये यात्री बसों का घण्टों इंतजार करते रहे।

दरअसल, चुनाव के लिये बसों का अधिग्रहण किये जाने से सभी रूटों की बसों सड़कों से गायब रहीं। इक्का दुक्का जो बसें चली भी वह भी यात्रियों से खचाखच भरी थीं। अधिकांश यात्रियों को यात्रा रद्द करनी पड़ी तो कुछ टैक्सी जैसे दूसरे वाहनों का सहारा लेकर अपनी मंजिल तक पहुँचे।

चुनाव के लिये स्कूल – यात्री बसों का अधिग्रहण शुकवार के बाद शनिवार 27 अप्रैल को भी जारी रहा। परिवहन विभाग के अमले ने सुबह से देर रात तक बसें अधिग्रहित कर पॉलीटेक्निक के खेल मैदान में खड़ी करायीं। इन अधिग्रहित बसों की आवाजाही से सर्किट हाउस चौराहे से बाहुबली होकर पॉलीटेक्निक कॉलेज जाने वाले मार्ग पर हर थोड़ी – थोड़ी देर में जाम लगता रहा।

शाम को चौराहे पर जब भीड़भाड़ बढ़ी और बसों को तेल डलवाने के लिये एक के बाद एक रवाना किया गया तब चौराहे पर लगे जाम को खुलवाने के लिये यातायात पुलिस और कोतवाली पुलिस के सिपाहियों को पसीना आता रहा। बाद में नगर कोतवाल अरविंद जैन ने जब खुद मोर्चा सम्हाला तब जाकर स्थिति कुछ नियंत्रण में आ सकी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *