‘मसूद अजहर पर संयुक्त राष्ट्र मैडम और नामदार से पूछकर फैसला लेता क्या?’ : मोदी

 

 

 

 

(ब्यूरो कार्यालय)

हिडौन (साई)। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को राजस्थान के हिंडौन में एक जनसभा को संबोधित किया।

भाषण के दौरान मोदी के निशाने पर कांग्रेस और उसका शीर्ष नेतृत्व रहा। आतंकवाद और मसूद अजहर के बहाने मोदी ने जमकर कांग्रेस पर निशाना साधा। मोदी ने कहा कि जब संयुक्त राष्ट्र मसूद अजहर को अंतरराष्ट्रीय आतंकी घोषित करता है, तो कांग्रेस को इसमें साजिश नजर आती है। यह फैसला मेरी कैबिनेट ने लिया है क्या? उन्होंने कहा संयुक्त राष्ट्र संघ को मैडम और नामदार से पूछकर मसूद अजहर को अंतरराष्ट्रीय आतंकी घोषित करना चाहिए था क्या?

पीएम मोदी ने कहा, ‘आज पूरी दुनिया भारत की आवाज सुन रही है। दो दिन पहले ही भारत के सबसे बड़े दुश्मन, आतंकियों के सरगना मसूद अजहर को दुनिया की सबसे बड़ी संस्था ने अंतरराष्ट्रीय आतंकी घोषित किया है। राजस्थान की वीर माताओं ने अपने वीर बेटे खोए, लेकिन अब इस आतंकी का पाकिस्तान में मौज करना मुश्किल हो गया है।

उन्होंने कहा, ‘सर्जिकल स्ट्राइक और एयर स्ट्राइक के बाद पाकिस्तान, आतंकवाद और उनके सरगना पर यह तीसरी अंतरराष्ट्रीय स्ट्राइक है। पाकिस्तान की सारी हेकड़ी निकल गई।उन्होंने रैली में मौजूद लोगों से कि पूछा आप खुश तो हैं ना? पाकिस्तान के साथ ऐसा ही होना चाहिए ना? कांग्रेस और बीजेपी के आतंक से निपटने के तरीकों की तुलना हो सकती है क्या?

यूएन मैडम से पूछकर मसूद को अंतरराष्ट्रीय आतंकी घोषित करता क्या?’

उन्होंने कहा, ‘कांग्रेस देश के सुरक्षित होने से खुश नहीं है। मसूद अजहर पर प्रतिबंध लगा और कांग्रेस कह रही है कि मसूद अजहर को चुनाव के वक्त आतंकी क्यों घोषित किया? ये मोदी की कैबिनेट ने फैसला लिया है क्या? कांग्रेस को चुनाव के वक्त अबू धाबी द्वारा मोदी को सम्मानित करने से भी परेशानी है और यूएन जब अजहर को आतंकी घोषित करता है, तो उससे भी दिक्कत है। संयुक्त राष्ट्र संघ मैडम और नामदार से पूछकर मसूद अजहर को अंतरराष्ट्रीय आतंकी घोषित करता क्या?’ उन्होंने आगे कहा, ‘कांग्रेस को लगता है कि मोदी ये सब अपने फायदे के लिए करवा रहा है। जिस हेलिकॉप्टर घोटाले में नामदार का परिवार फंसा है, उसके सबसे बड़े राजदार मिशेल मामाको मोदी भारत ले आया तो कांग्रेस कहती है कि ये मोदी ने अपने फायदे के लिए करवाया।

मोदी ने कहा कि सारे कांग्रेसी रो रहे हैं कि मोदी ने ये कर दिया, मोदी ने वो कर दिया। उन्होंने कहा कि राजस्थान ने जब हमें 25 सीटें दी थीं, तो मौज करने के लिए दी थीं क्या? काम करने के लिए सीटें दी थीं, तो मोदी काम ही करेगा ना। कांग्रेस भी अब यह नारा लगाए कि नामुमकिन भी अब मुमकिन है

उन्होंने कहा, ‘कांग्रेस कहती थी कि हर एक आतंकी हमले को रोकना मुमकिन नहीं है। जबकि हमने सुनिश्चित किया है कि जम्मू-कश्मीर के दो-तीन जिलों को छोड़कर सेना और आम नागरिकों पर कोई हमला नहीं कर सकते। हमने आतंक के खिलाफ अपने संकल्प को सिद्ध करके दिखाया है। जब केंद्र में कांग्रेस सरकार थी, तब रोज आतंकी हमले होते थे। कोई भी शहर सुरक्षित नहीं था। हर कोई जानता है कि किस तरह 2008 में मुंबई में आतंकवादियों ने हमला किया। वह ना तो पहला आतंकी हमला था और ना ही आखिरी।

’26/11 से पहले सालभर होते रहे हमले

मोदी ने कहा, ‘2008 के जनवरी में रामपुर में सीआरपीएफ कैंप पर हमला किया। मई में जयपुर में बम धमाके किए। जुलाई में बेंगलुरु में धम धमाके किए। उसके अगले दिन अहमदाबाद में आतंकी हमला किया। सितंबर में दिल्ली में दो आतंकी हमले किए। अक्टूबर में पूर्वोत्तर में तीन शहरों में हमले किए। नवंबर 2008 में मुंबई पर हमला किया, जिसमें सैकड़ों लोग मरे। पूरे साल हमले होते रहे। सोचिए क्या स्थिति थी उस वक्त और आज क्या है? क्या कारण है कि आतंकी अब हिम्मत नहीं कर पाते? ये मोदी नहीं आपके वोट की ताकत है। आप साथ नहीं होते तो मैं कुछ कर ना पाता। कांग्रेस और मुझमें फर्क क्या होता।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *