पटाखा फोड़ने वाली बाईक बनी पुलिस की मेहमान

 

 

नगर कोतवाल अरविंद जैन ने की तारीफे काबिल कार्यवाही

(अखिलेश दुबे)

सिवनी (साई)। बाईक्स में मॉडीफाईड साईलेंसर लगाकर तेज आवाजें निकालने, साईलेंसर्स से पटाखे की तरह आवाजें निकलने के कारण शहर के लोग बुरी तरह परेशान हैं। नगर कोतवाल अरविंद जैन के द्वारा इस तरह की बाईक्स के खिलाफ अभियान का आगाज़ किया गया है, जिसके तहत एक बाईक को पुलिस ने पकड़कर, आरोपी के विरूद्ध प्रतिबंधात्मक कार्यवाही की है।

नगर कोतवाल अरविंद जैन ने समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया से चर्चा के दौरान कहा कि उन्हें इस तरह की अनेक शिकायतें मिल रहीं थीं कि युवाओं के द्वारा दो पहिया वाहन विशेषकर बुलट के मूल साईंलेंसर को बदलवाकर मॉडीफाईड साईलेंसर लगवाये जा रहे हैं। इन साईलेंसर्स से पटाखा फोड़ने जैसी आवाज आती है।

नगर कोतवाल ने आगे बताया कि सोमवार की रात लगभग आठ बजे बस स्टैण्ड से एक मोटर साईकिल तेज गति से निकली, इस मोटर साईकिल से थोड़ी – थोड़ी देर में गोली चलने जैसी आवाज आ रही थी। उनके द्वारा सहायक उप निरीक्षक सी.एल. सिंगमारे एवं आरक्षक सुधीर के साथ इसका पीछा करते हुए छिंदवाड़ा बायपास पर इसे पकड़ा गया।

उन्होंने बताया कि एमपी 22 एमएफ 4326 नंबर की इस बुलट का चालन, पलारी चौकी के तहत आने वाले ग्राम बगलई के ललित सूर्यवंशी (21) पिता ओम प्रकाश सूर्यवंशी के द्वारा किया जा रहा था। ललित, सिवनी के अशोक नगर में किराये का मकान लेकर बारहवीं की पढ़ाई कर रहा है।

यहाँ यह उल्लेखनीय होगा कि रविवार और सोमवार की दरमियानी रात लगभग डेढ़ बजे बाहुबली चौराहे पर गश्त कर रही पीसीआर और ब्रेकर को इस तरह की आवाज जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी के निवास के पास सुनायी दी थी। पुलिस के द्वारा इसका पीछा किया गया किन्तु रात में उक्त वाहन तेज गति से भाग निकला था।

पुलिस सूत्रों ने समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया को बताया कि पुलिस के द्वारा पूछताछ किये जाने पर ललित ने बताया कि रविवार और सोमवार की दरमियानी रात में तेज गति से पटाखा फोड़ते हुए वह इसी मोटर साईकिल में एसपी बंग्ले की ओर गया था एवं पुलिस को आता देखकर वह घर में जाकर छुप गया था।

सूत्रों ने बताया कि पुलिस के द्वारा इस मामले में मोटर व्हीकल एक्ट एवं धारा 151 के तहत ललित पिता ओम प्रकाश सूर्यवंशी के खिलाफ कार्यवाही की गयी है। इधर, नगर कोतवाल ने बताया कि उनके द्वारा शहर के दो पहिया मोटर मैकेनिकों को भी ताकीद किया गया है कि वे किसी भी बाईक में इस तरह के साईलेंसर न लगायें, अन्यथा उनके खिलाफ भी धारा 109 के तहत कार्यवाही की जायेगी।

शहर में जैसे ही इस बात की जानकारी लगी कि नगर कोतवाल अरविंद जैन के द्वारा इस तरह की प्रतिबंधात्मक कार्यवाही की गयी है, वैसे ही लोगों ने मुक्त कण्ठ से नगर कोतवाल की प्रशंसा की है। लोगों का कहना है कि तेज आवाज वाले साईलेंसर की आवाज या गोली जैसी आवाज अचानक आने से महिलाएं और बुजुर्ग बुरी तरह घबरा जाते हैं। कई बार इसके चलते सड़कों पर दुर्घटनाएं भी घट जाती हैं।