बूंद-बूंद पानी को तरस रहे शांति नगरवासी

 

(संतोष बर्मन)

घंसौर (साई)। इधर भगवान भास्कर के तेवर एक बार फिर से तल्ख होते जा रहे हैं और दूसरी ओर घंसौर में अधिकारियों की लापरवाही के चलते शांति नगर के निवासियों को बूंद – बंूद पानी के लिये तरसना पड़ रहा है।

ग्राम पंचायत के वार्ड क्रमाँक 12 (शांति नगर) में इन दिनों पेयजल एवं निस्तार के पानी के भारी संकट ने अपना विकराल रूप धारण कर लिया है। वार्ड वासियों ने बताया कि लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग के द्वारा नल-जल योजना के विस्तार के दौरान शांति नगर को पाँच लाईनों से जोड़ा गया था।

क्षेत्र वासियों की मानें तो वार्ड में डाली गयी पाईप लाईन को किसी भी पानी की टंकी से नहीं जोड़े जाने के कारण यहाँ नल-जल योजना पूरी तरह ठप्प पड़ी हुई है। लोगों का कहना है कि वैसे तो शांति नगर स्थित नवीन बस स्टैण्ड में नलकूप से मोटर पंप के जरिये ब्लॉक कॉलोनी में पेयजल की सप्लाई की जाती है लेकिन वह नलकूप भी गर्मी के कारण जल संकट में सूख जाता है।

देखा जाये तो शांति नगर ग्राम पंचायत घंसौर का सबसे बड़ा वार्ड है, इसके बाद भी यहाँ पानी की त्राहि त्राहि से लोग बुरी तरह परेशान हैं। यहाँ यह उल्लेखनीय होगा कि इसी वार्ड में ग्राम पंचायत भवन भी बना हुआ है।