गंभीर जल संकट की जद में हैं शहर के वार्ड

 

 

विवेकानंद व दुर्गावती वार्ड में व्याप्त है गंभीर जलसंकट

(ब्यूरो कार्यालय)

सिवनी (साई)। नगर के विभिन्न वार्डों में पेयजल का संकट गहराया हुआ है। इसी के चलते विवेकानंद वार्ड और रानी दुर्गावती वार्ड के रहने वाले लोगों को अपनी जरूरत का पानी इकट्ठा करने के लिये यहाँ – वहाँ भटकना पड़ रहा है।

आलम यह है कि कई लोग हाथ ठिलियों पर पानी से भरे बर्तन दूर – दूर से लेकर आते देखे जा रहे हैं। नगर के विवेकानंद वार्ड वासियों ने बताया है कि उनके वार्ड में सार्वजनिक नलों से पर्याप्त पानी लोगों को नहीं मिल पाता है क्योंकि जिन लोगों के घरों में निजि कनेक्शन हैं वे लोग मोटर लगाकर पानी भरते हैं। इससे सार्वजनिक नलों में पानी नहीं पहुँच पाता है अथवा पहुँचता भी है तो वह बहुत थोड़ी मात्रा में ही पहुँच पाता है जिसके कारण ऐसे नागरिक जो केवल सार्वजनिक नलों के भरोसे रहते हैं, उन्हें उनकी जरूरत का पानी नहीं मिल पाता है।

सार्वजनिक नलों से पानी भरने वाले अधिकांशतः श्रमिक वर्ग के हैं। नलों से पानी आने का जो समय है उसके कारण कई बार श्रमिकों को अपने आधे दिन की या घण्टे दो घण्टे की मजदूरी से हाथ धोना पड़ता है जो उनके लिये डूबते पर दो अषाढ़ की कहावत को चरितार्थ करता है।

लोगों ने बताया कि विवेकानंद और रानी दुर्गावती वार्ड के कई – कई क्षेत्रों में नलों से पानी की सप्लाई, सामान्य दिनों में भी बहुत थोडे समय के लिये ही की गयी थी। वर्तमान में इसका कारण पूछने पर पता चला कि नयी जलावर्धन योजना की लाईन से पुरानी जलावर्धन योजना को जोड़ा जा रहा है जिसके चलते यह व्यवधान उत्पन्न हो रहा है। इसके अलावा विवेकानंद वार्ड में नलकूप से दिये जाने वाले पानी की लाईन को भी नवीन जलावर्धन योजना से जोड़ा गया है पर मंगलवार 07 मई को इसके परीक्षण के दौरान ही कई लोगों के घरों में पानी नहीं आया।

इन दोनों ही वार्डों में पालिका के द्वारा पूर्व में जो नलकूप खनित किये गये थे, उनमें से अधिकांश का जलस्तर नीचे जा चुका है और जब हैण्ड पंप चलाया जाता है तो उससे पानी निकलने की बजाय, पंप से खाली हवा ही निकलती है। पानी को लेकर दोनों ही वार्डों के नागरिक भारी परेशानी का अनुभव कर रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *