कर्मी की पत्नि को ले भागा चालक!

 

 

पति की शिकायत पर गुमइंसान का प्रकरण हुआ दर्ज!

(अपराध ब्यूरो)

सिवनी (साई)। लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग के द्वारा संधारित किये जाने वाले श्रीवनी फिल्टर प्लांट में बुधवार की सुबह हंगामाई रही। वहाँ के एक कर्मचारी की पत्नि को एक चालक के द्वारा भगा ले जाने का आरोप लगाया गया है। बण्डोल पुलिस ने इस मामले में गुमइंसान का मामला दर्ज किया है।

पीएचई के कर्मचारी राजेंद्र जंघेला ने समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया को बताया कि बीति रात जब वे फिल्टर प्लांट में ड्यूटी पर थे तभी उन्हें किसी के द्वारा फोन पर बताया गया कि उनके निवास में किसी को घुसते देखा गया है। वे तुरंत घर पहुँचे और उन्हें बताया गया कि पीएचई में अनुबंधित वाहन के चालक अभिषेक शर्मा को उनके घर में घुसते देखा गया था। उन्होंने अपनी पत्नि से पूछताछ की।

उन्होंने बताया कि इसके बाद पत्नि को समझाया बुझाया और वापस प्लांट में काम करने चले गये। उन्होंने बताया कि अगली सुबह उन्हें फिर फोन आया कि उनके घर का दरवाजा रात भर से खुला हुआ था। वे भागकर घर पहुँचे और उन्होंने देखा कि उनके घर पर उनकी पत्नि नहीं थी। घर का काफी सामान भी गायब था।

उन्होंने बताया कि उनके द्वारा जब आसपास पूछताछ की गयी तब पता चला कि पीएचई विभाग में अनुबंधित वाहन का चालक अभिषेक शर्मा अपने वाहन के साथ वहाँ से गायब था। उन्होंने बताया कि यह वाहन अभिषेक शर्मा का ही है, जिसे अभिषेक के द्वारा पीएचई में लगाया गया है।

उन्होंने यह भी बताया कि कई महीनों से यह वाहन श्रीवनी फिल्टर प्लांट में ही खड़ा रहता है क्योंकि विभाग के कार्यपालन यंत्री श्री तिवारी के द्वारा सिवनी स्थित अपने सरकारी आवास की बजाय श्रीवनी के रेस्ट हाउस को ही अपना आशियाना बनाकर रखा गया है। उन्होंने यह भी बताया कि अभिषक शर्मा भी वहीं रहता था।

राजेंद्र जंघेला ने यह भी बताया कि उनके द्वारा बण्डोल पुलिस को पूरा घटनाक्रम बताया और अभिषेक शर्मा पर शक जाहिर करते हुए उनकी पत्नि को भगा ले जाने का संदेह व्यक्त किया गया था। वहीं बण्डोल पुलिस के द्वारा इस मामले में गुमइंसान का प्रकरण दर्ज कर लिया गया है।

वैसे इस मामले में कुछ प्रश्न अभी भी अनुत्तरित ही हैं। मसलन, महीनों से पीएचई में अनुबंधित वाहन को रात में श्रीवनी फिल्टर प्लांट में खड़ा करने की अनुमति किसने दी? किसकी अनुमति से वाहन का चालक अभिषेक फिल्टर प्लांट में रात गुजारा करता था? बुधवार को दिन भर चालक और वाहन कहाँ था? अगर ड्यूटी पर नहीं गया तो कार्यपालन यंत्री के द्वारा क्या कदम उठाये गये? किसकी अनुमति से कार्यपालन यंत्री के द्वारा पीएचई के श्रीवनी स्थित रेस्ट हाउस का उपयोग लगातार किया जा रहा है, जबकि वर्तमान में आचार संहिता प्रभावी है!

मामले में तस्दीक की जा रही है. फिलहाल गुमइंसान का प्रकरण दर्ज किया गया है.

एम.एल. राहंगडाले,

थाना प्रभारी, बण्डोल.

पुलिस में रिपोर्ट दर्ज कर दी गयी है. रात 11 बजे तक पत्नि का कहीं अता पता नहीं चल पाया है.

राजेंद्र जंघेला,

पीड़ित.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *