भगवा झंडे पर किसी का एकाधिकार है क्या: दिग्विजय सिंह

 

 

 

 

(ब्यूरो कार्यालय)

भोपाल (साई)। मध्य प्रदेश की भोपाल सीट पर जोरदार टक्कर है। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व सीएम दिग्विजय सिंह के खिलाफ बीजेपी की साध्वी प्रज्ञा मैदान में हैं। इस मुकाबले को हिंदुत्व की जंग और धर्मयुद्ध के रूप में प्रचारित किया जा रहा है। भोपाल में दिग्विजय सिंह के लिए साधु-संतों के रोड शो के दौरान भगवा झंडे नजर आए। साधु-संतों की टोली के साथ सड़कों पर उतरे दिग्विजय सिंह ने कहा है कि भगवा पर किसी का एकाधिकार नहीं है।

बुधवार को साधु-संतों ने पूजा-अर्चना कर पुराने भोपाल में रोड शो शुरू किया। साधु-संतों की इस टोली का नेतृत्व कंप्यूटर बाबा ने किया। इस रोड शो में दिग्विजय सिंह भी साधुओं के साथ नजर आए। रोड शो पीरगेट सहित भोपाल की संकरी गलियों से होकर गुजरा। राजधानी की सड़कों पर उतरे साधु-संतों के हाथों में कांग्रेस के झंडे के साथ भगवा झंडे भी थे। इस मौके पर जब मीडिया ने दिग्विजय सिंह से पूछा कि क्या बात है कि कांग्रेस के झंडों के साथ भगवा झंडा भी नजर आया है। इस पर सिंह ने पलटवार करते हुए पूछा, ‘भगवा झंडे पर किसी का एकाधिकार है क्या।

रोड शो में लगे मोदी-मोदी के नारे

साधु-संतों की टोलियां जब भोपाल की सड़कों से होकर गुजरीं तब कई लोगों ने घर-घर मोदी व हर-हर मोदी के नारे लगाए। सड़क किनारे खड़े लोगों ने नारे लगाए तो रोड शो कर रहे साधु-संतों के बीच से भी कई लोग मोदी के नारे लगाने लगे। इस बीच रोड शो के दौरान मोदी के समर्थन में नारेबाजी पर पुलिस ने एफआईआर भी दर्ज की है। रोड शो के बाद साधु-संतों की टोली बसों पर सवार होकर गांव की ओर रवाना हो गई। यह साधु-संत कंप्यूटर बाबा के आमंत्रण पर भोपाल आए हैं।

भगवा दुपट्टा डाले पुलिसकर्मियों पर विवाद

इससे पहले रोड शो में पुलिसकर्मियों की सिविल ड्रेस में तस्वीर सामने आई जो गले में भगवा दुपट्टा डाले हुए थे। बातचीत में एक महिला पुलिसकर्मी ने बताया कि उनसे ऐसा करवाया जा रहा है। विवाद होने के बाद मध्य प्रदेश का सियासी माहौल गर्मा गया। एक महिला पुलिसकर्मी ने चौंकाने वाला खुलासा करते हुए कहा कि उन्होंने ऐसा अपनी मर्जी से ऐसा नहीं किया है बल्कि करवाया जा रहा है।

कंप्यूटर बाबा का कहना है, ‘सिंह को जिताने साधु-संत भोपाल आए हैं। इस रोड शो में शामिल होने देश के विभिन्न हिस्सों से साधु संत पहुंचे हैं।इससे पहले मंगलवार को राजधानी में जमा हुए साधुओं ने कंप्यूटर बाबा की अगुआई में हठयोग किया था। इस मौके पर दिग्विजय सिंह भी पत्नी अमृता सिंह के साथ आयोजन स्थल पर पहुंचे थे और हवन कुंड में आहुति दी थी। बता दें कि भोपाल सीट पर 12 मई को मतदान है, ऐसे में यहां सियासी हलचल तेज हो चली है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *