बूंद-बूंद पानी को तरस रहे ग्रामीण

 

 

(संतोष बर्मन)

घंसौर (साई)। मई माह के पहले पखवाड़े की समाप्ति पर लोगों का आधे से ज्यादा दिन पानी की जुगत में ही बीत रहा है। क्षेत्र के सूरजपुरा ग्राम पंचायत के नहरतला निवासियों को इन दिनों पानी की गंभीर समस्या से जमकर दो-चार होना पड़ रहा है।

ग्रामवासियों में शामिल अमर लाल, पूनाराम, जुगल, तुपई, मदन सिंह, रूपलाल, बंशीलाल ने बताया कि ग्राम नहरतला के बोर में पर्याप्त पानी तो है, लेकिन कम हॉर्स पॉवर (एचपी) की मोटर से पानी दिया जा रहा है। इसके चलते ग्राम के निवासियों को पर्याप्त पानी नहीं मिल पा रहा है। गाँव से लगभग छः किलोमीटर दूर ग्रामीणों को पानी लेने के लिये संघर्ष करना पड़ रहा है। भीषण गर्मी, लू लपट के बीच पानी भरने के कारण ग्रामीणों के स्वास्थ्य पर विपरीत असर पड़ रहा है। ग्रामीण बुखार, लू की चपेट में आकर बीमार हो रहे हैं।

उक्त संबंध में ग्रामीणों ने बताया कि बोर में इतना पानी है कि यहाँ अगर साढ़े सात एचपी की मोटर लगाकर पानी दिया जाये तो पानी की कमी नहीं होगी, लेकिन पीएचई के अधिकारियों, कर्मचारियों को उक्त समस्या से अवगत कराये जाने के बाद भी इस ओर कोई ध्यान नहीं दे रहा है। वहीं कम एचपी की मशीन लगाकर विभाग पल्ला झाड़ रहा है। इसके साथ ही ग्रामीणों ने बताया कि नहरतला की पाईप लाईन दो साल पहले स्वीकृत होने के बाद भी विभाग इस कोई ध्यान नहीं दे रहा है। गाँव में एक ही बोर है, इसके अलावा अन्य कोई दूसरा जलस्त्रोत नहीं है।

ग्रामीणों ने बताया कि सुबह चार बजे से गाँव की महिलाएं, पुरुषों के साथ ही छोटे बच्चे भी पानी लेने के लिये गाँव से लगभग छः किलो मीटर दूर स्थित बोर वाले स्थान पर पहुँचते हैं। प्रातःकाल से पानी भरने का सिलसिला आरंभ होता है जो पूरी दोपहर और देर शाम तक लगातार चलता ही रहता है।

इसके साथ ही लाईट गोल होने या फिर अन्य कोई समस्या उत्पन्न होने पर ग्रामीणों के समक्ष पानी की विकराल समस्या उत्पन्न हो जाती है। लगभग 500 की आबादी वाले इस गाँव के ग्राम वासियों ने अधिकारियों से माँग की है कि शीघ्र ही गाँव में पेयजल समस्या का निराकरण किया जाये और अधिक एचपी की मोटर से पानी उपलब्ध कराया जाये।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *