मेगा फेयर बनी पालिका की आँखों का नूर!

 

 

बिना सुरक्षा संसाधनों के संचालित हो रही प्रदर्शनी!

(ब्यूरो कार्यालय)

सिवनी (साई)। सर्किट हाऊस के सामने संचालित हो रही मेगा ट्रेड फेयर में सुरक्षा संसाधनों का अभाव साफ दिखायी दे रहा है। गर्मी के मौसम में आगजनी की घटनाओं में तेजी से हो रही बढ़ौत्तरी के बाद भी इस प्रदर्शनी में आग से निपटने के संसाधन न के बराबर ही दिख रहे हैं।

ज्ञातव्य है कि जिले भर में नरवाई जलाने का सिलसिला थम नहीं पा रहा है। आलम यह है कि जिला मुख्यालय में लोगों के घरों के आँगन एवं छतों पर नरवाई के जले हुए अवशेष आकर गिर रहे हैं। इन परिस्थितियों में मेगा ट्रेड फेयर में आग से निपटने के इंतजाम न होने के कारण पालिका की सक्रियता की पोल खुलती दिख रही है।

लोगों का कहना है कि यह प्रदर्शनी पूरी तरह पॉलीथिन और कपड़ों की जद में है। अगर यहाँ कोई दुर्घटना हो जाये तो वह भयावह रूप ले सकती है। इसके अलावा इस प्रदर्शनी से महज चंद कदमों की दूरी पर ही पेट्रोल पंप भी है, जिसे देखते हुए पालिका को इसके संचालकों को आग से निपटने के पर्याप्त इंतजाम करने के लिये बाध्य किया जाना चाहिये था।

नगर पालिका के उच्च पदस्थ सूत्रों ने समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया को बताया कि इस प्रदर्शनी के संचालकों के द्वारा नगर पालिका से विधिवत अनुमति भी प्राप्त नहीं की गयी है। सूत्रों की मानें तो गत दिवस पालिका के एक कर्मचारी के द्वारा अनुमति आदि के संबंध में पूछताछ अवश्य की गयी थी, किन्तु प्रदर्शनी संचालक के द्वारा उन्हें किसी तरह की विधिवत अनुमति नहीं दिखायी जा सकी थी।

दूषित खाद्य सामग्री : इतना ही नहीं इस प्रदर्शनी में खाद्य सामग्री का विक्रय भी किया जा रहा है। इसके लिये प्रदर्शनी संचालकों को मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी के अधीन कार्यरत औषधि प्रशासन एवं नगर पाालिका के स्वास्थ्य विभाग से अनुमति प्राप्त कर खाद्य सामग्रियों की जाँच करवाना चाहिये किन्तु उनके द्वारा इस तरह की कवायद भी नहीं की गयी है।