इस बार क्लैट से 21 नेशनल, 33 निजि यूनिवर्सिटी में मिलेगा प्रवेश

 

 

 

 

(ब्यूरो कार्यालय)

भोपाल (साई)। आप इस बार कॉमन लॉ एडमिशन टेस्ट (क्लैट) में शामिल हो रहे हैं तो आपके लिए अच्छी खबर है। इस बार क्लैट के माध्यम से देश 54 विश्वविद्यालय व कॉलेजों में दाखिला होगा। इनमें 21 नेशनल लॉ यूनिवर्सिटी तो 33 निजी क्षेत्र के विश्वविद्यालय और कॉलेज शामिल हैं। इस बार दो नेशनल लॉ यूनिवर्सिटी बढ़ी हैं।

पिछले साल 19 नेशनल लॉ यूनिवर्सिटी में ही दाखिला हुआ था। दो नई नेशनल लॉ यूनिवर्सिटी जबलपुर और शिमला में खुली है। इस बार इसमें भी दाखिला होगा। इन दोनों संस्थान में ढ़ाई सौ सीटें हैं। इस तरह इस साल लगभग ढ़ाई हजार स्नातक सीटों पर दाखिला होगा। पिछले साल 2200 सीटों पर दाखिला हुआ था। गौरतलब है कि इस बार क्लैट पेन-पेपर से 26 मई को होगा। परीक्षा तीन से पांच बजे तक चलेगी।

इन संस्थानों में भी मिलेगा प्रवेश : इस बार क्लैट कंसोर्टियम ने 33 निजी क्षेत्र के विश्वविद्यालय और कॉलेज के साथ करार किया है। ये संस्थान भी क्लैट के स्कोर से दाखिला लेंगे। जिन निजी संस्थानों के साथ क्लैट का स्कोर इस्तेमाल करने के लिए करार हुआ है, उसमें सोबित यूनिवर्सिटी, आरएनबी ग्लोबल यूनिवर्सिटी, आईएसबीआर लॉ कॉलेज, ग्लोकल लॉ स्कूल, इंदौर इंस्टीट्यूट ऑफ लॉ, जेवियर लॉ कॉलेज, एमिटी यूनिवर्सिटी आदि शामिल हैं।

एक्सपर्ट के टिप्स : लॉजिकल रीजनिंग की तैयारी का सबसे बेहतर तरीका है कि पुराने मॉक टेस्ट का रिव्यू पढ़ें। प्रैक्टिस के लिए दो दिन में एक ही मॉक टेस्ट दें, लेकिन पूरे साल में अपने पुराने मॉक टेस्ट कर रिव्यू करना बिलकुल न भूलें, जिसमें आप गलतियों से ही सीख सकते हैं।

लीगल रीजनिंग क्लैट का एक बहुत महत्वपूर्ण हिस्सा है। आपको यह समझना चाहिए कि लीगल रीजनिंग के अभी तक के सारे सवाल बनाए जा चुके हैं। हर साल लीगल रीजनिंग में या तो सवाल रिपीट होते हैं। इसके अलावा इन्हीं सवालों को कुछ आगे-पीछे करके पूछा जाता है।

ऑफलाइन मोड में होगा क्लैट: देशभर की टॉप लॉ यूनिवर्सिटीज में प्रवेश के लिए होने जा रहा कॉमन लॉ एडमिशन टेस्ट (क्लैट) इस बार 26 मई को होगा। क्लैट इस बार ऑनलाइन की बजाय ऑफलाइन मोड में होगा और हर बार की तुलना में दो सप्ताह देरी से भी। ऐसे में बच्चों को तैयारी का अधिक समय तो मिला है।