जानिये साल के सबसे विशेष शादी विवाह मुहूर्त!

 

 

(ब्यूरो कार्यालय)

सिवनी (साई)। आने वाले डेढ़ माह में 25 दिन शादियों के मुहूर्त हैं। जून में 12 दिन शहनाई की धुन गूजेंगी। अंतिम दौर की लगन में जो वर-वधु सात फेरे लेने से वंचित रह जायेंगे, उन्हें चार माह प्रतीक्षा करनी होगी। 12 जुलाई को अंतिम वैवाहिक मुहूर्त है और इसी दिन देवशयनी एकादशी भी रहेगी। उसके बाद चातुर्मास प्रारंभ होगा।

ज्योतिषाचार्यों के अनुसार चातुर्मास के पहले के लगन में वैवाहिक कार्यक्रम अधिक होंगे। इस वर्ष लोकसभा चुनाव के चलते कई शासकीय सेवा के लोगों ने अवकाश के अभाव में मतगणना के बाद विवाह आयोजन का निर्णय किया था। ऐसे लोग शेष समय में माँगलिक कार्य पूर्ण करने का प्रयास करेंगे।

अनुराधा नक्षत्र : मई, जून और जुलाई में वैवाहिक मुहूर्त हैं। देवशयनी एकादशी 12 जुलाई को होगी। इस दिन से चार माह के लिये देव शयन प्रारंभ होता है और माँगलिक कार्य नहीं किये जाते हैं। इस वर्ष देव शयनी एकादशी के दिन अनुराधा नक्षत्र है। इस नक्षत्र में वैवाहिक कार्यक्रम हो सकते हैं, इस दिन वैवाहिक मुहूर्त हैं।

इन तिथियों में मुहूर्त

मई- 24, 26, 28, 29, 30

जून- 04, 05, 06, 07, 08, 20, 21, 22, 23, 24, 25, 26

जुलाई- 05, 06, 07, 08, 09, 10, 11, 12

फिर 18 नवंबर से आरंभ होंगी शादियां : 12 जुलाई को देव शयनी एकादशी और 18 जुलाई से सूर्य दक्षिणायन हो जायेंगे। दक्षिणायन सूर्य में वैवाहिक मुहूर्त नहीं होते हैं। चार माह के बाद माँगलिक कार्यक्रम आरंभ होंगे। आठ नवंबर को देव उठनी एकादशी से देव जागृत होंगे और 18 नवंबर से शादियां आरंभ होंगी।