आदिवासियों के लिए खुलेंगे स्पेशल प्रशिक्षण केंद्र

 

 

 

 

(ब्यूरो कार्यालय)

जबलपुर (साई)। आदिवासी किसानों और छात्रों के लिए वेटरनरी विश्वविद्यालय आधुनिक ट्रेनिंग सेंटर प्रस्तावित करने जा रहा है। जबलपुर सहित रीवा और महू में इसकी स्थापना की जाएगी।

कुछ ऐसी ही परियोजनाओं का खाका तैयार कर विश्वविद्यालय प्रशासन ने शासन को भेजा है। करीब 35.38 करोड़ के इस प्रस्ताव को मंजूरी मिलती है तो निकट भविष्य में किसानों और छात्र-छात्राओं के लिए बेहतरीन शिक्षा का माहौल तैयार होगा। ट्रेनिंग सेंटर के माध्यम से आधुनिक ट्रेनिंग दी जा सकेगी, वहीं उनके रहने के लिए व्यवस्थाएं उपलब्ध होंगी। जबलपुर, रीवा और महु के लिए इस परियोजना को एक साथ अंजाम दिया जाएगा।

आदिवासी जिले होंगे कवर : ट्रेनिंग सेंटर की स्थापना से आदिवासी जिले जैसे मंडला, डिंडोरी, सिवनी, झाबुआ को कवर किया जाएगा। इन ट्रेनिंग सेंटरों में आधुनिक मल्टी मीडिया तकनीक उपलब्ध कराई जाएगी, ताकि किसानों को नए अनुसंधान एवं प्रयोगों की लाइव जानकारी दी जा सके। बताया जाता है जबलपुर के इमलिया प्रक्षेत्र में पहले फार्मर ट्रेनिंग सेंटर को मंजूरी मिल गई है। जबकि, महु और रीवा के लिए अब विवि प्रशासन जोर लगा रहा है।

100 सीटर छात्रावास : बताया जाता है वेटनरी विवि के अधीन आने वाले जबलपुर, रीवा और महु पशु चिकित्सा एवं विज्ञान महाविद्यालय के लिए 100-100 सीटर क्षमता वाले छात्रावासों का निर्माण भी किया जाएगा। दो मंजिला छात्रावासों में 50-50 बैड होंगे। ताकि विभिन्न ट्रेनिंग के दौरान बाहर से आने वाले किसानों और छात्रों के रुकने की व्यवस्था की जा सके। आदिवासी महिलाओं के लिए अलग से छात्रावास का भी प्रस्ताव तैयार कर शासन को भेजा गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *