पहली अंतरराष्ट्रीय यात्री उड़ान के लिये तैयार है हवाई अड्डा

 

 

 

 

(ब्यूरो कार्यालय)

इंदौर (साई)। आव्रजन (इमिग्रेशन) चेक पोस्ट के लिये सिविल प्राधिकारी की नियुक्ति की गजट अधिसूचना जारी होने के साथ ही स्थानीय देवी अहिल्याबाई होलकर हवाई अड्डे से पहली अंतरराष्ट्रीय यात्री उड़ान शुरू होने का रास्ता साफ हो गया है।

हवाई अड्डे की निदेशक अर्यमा सान्याल ने बृहस्पतिवार को बताया, “भारत के राजपत्र में केंद्रीय गृह मंत्रालय की इस अधिसूचना के 27 मई को प्रकाशन के बाद हमारा हवाई अड्डा पहली अंतरराष्ट्रीय यात्री उड़ान के लिये पूरी तरह तैयार है। इस उड़ान के परिचालन के लिये अन्य जरूरी मंजूरियां हमें पहले ही मिल चुकी हैं।”

उन्होंने बताया कि सरकारी विमानन कम्पनी एयर इंडिया इंदौर और शारजाह के बीच दैनिक यात्री उड़ान का प्रस्ताव स्थानीय हवाई अड्डा प्रबंधन को पहले ही दे चुकी है। यह मध्यप्रदेश भर में किसी भी विमानन कम्पनी की प्रस्तावित पहली अंतरराष्ट्रीय यात्री उड़ान है। हवाई अड्डा निदेशक ने कहा, “इंदौर-शारजाह-इंदौर उड़ान के परिचालन की तारीख तय करने को लेकर अंतिम फैसला एयर इंडिया प्रबंधन को ही करना है।

उन्‍होंने कहा कि हालांकि, हमें उम्मीद है कि नागरिक उड्डयन महानिदेशालय (डीजीसीए) और अन्य सम्बद्ध पक्षों से इस उड़ान के कार्यक्रम की मंजूरी के लिये इस विमानन कम्पनी की ओर से जल्द औपचारिकताएं पूरी की जायेंगी।”

सान्याल ने बताया कि फिलहाल स्थानीय हवाई अड्डे पर देश के विभिन्न शहरों से 34 उड़ानें आ रही हैं और इतनी ही उड़ानें अलग-अलग घरेलू गंतव्यों के लिये हवाई अड्डे से जा रही हैं। इंदौर के देवी अहिल्याबाई होलकर हवाई अड्डे की गिनती देश के व्यस्त घरेलू हवाई अड्डों में होती है। सरकारी आंकड़ो के मुताबिक वित्त वर्ष 2018-19 में स्थानीय हवाई अड्डे के जरिये करीब 31.59 लाख यात्रियों ने सफर किया था।