भाजपा आरंभ करेगी सहयोग निधि की वसूली

 

 

 

 

 

 

रखा गया आठ करोड़ का लक्ष्य

(ब्यूरो कार्यालय)

भोपाल (साई)। भारतीय जनता पार्टी ने आजीवन सहयोग निधि और सदस्यता शुल्क की वसूली के लिए दो बार अभियान चलाया। एक बार पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के निधन के कारण अभियान रोकना पड़ा तो दूसरी बार विधान सभा चुनाव के बाद अभियान चलाया, लेकिन तय लक्ष्य आठ करोड़ रुपए की जगह मात्र तीन करोड़ रुपए एकत्र हो पाए।

अब लोकसभा चुनाव सम्पन्न हो जाने के बाद पार्टी एक बार फिर आजीवन सहयोग निधि वसूलने के लिए प्रदेश भर में अभियान चलाएगी। पार्टी ने इसके लिए एक हजार और पांच हजार रुपए के कूपन तैयार किए हैं।

भाजपा ने मध्य प्रदेश में आजीवन सहयोग निधि के तहत आठ करोड़ रुपय का लक्ष्य तय किया है। अगस्त 2018 में पार्टी ने ताबड़तोड़ तरीके से आजीवन निधि एकत्र करने के लिए अभियान चलाया था। इसके लिए हर जिले में एक बड़े नेता को बागडोर सौंपी गई है, लेकिन इसी दौरान पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के निधन के कारण अभियान को रोकना पड़ा।

इसके बाद विधान सभा चुनाव के बाद फिर पार्टी ने यह अभियान चलाया। हालांकि यह अभियान तब भी सफल नहीं हो पाया और मात्र तीन करोड़ रुपए ही एकत्र हो पाए। अब पार्टी एक बार फिर आजीवन सहयोग निधि वसूलने की तैयारी में है। सभी जिलाध्यक्षों को इस बारे में निर्देश दिए जा रहे हैं कि हर हाल में लक्ष्य पूर्ति की जाए।

लोकसभा चुनाव के कारण सहयोग निधि एकत्र करने का काम रुका हुआ था। अब चुनाव हो गए हैं, जल्द ही अभियान शुरू करेंगे। आठ करोड़ रुपए का लक्ष्य है। अब तक तीन करोड़ एकत्र किए गए हैं।

कृष्णमुरारी मोघे,

संयोजक,

आजीवन सहयोग निधि.