अलीगढ़ में बच्ची की निर्मम हत्‍या

 

 

 

 

महिला समेत 2 और अरेस्ट, फ्रिज में रखा था मासूम का शव?

(ब्यूरो कार्यालय)

अलगढ (साई)। उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ में ढाई साल की बच्ची की निर्मम हत्या के बाद पुलिस ने आरोपियों की धरपकड़ तेज कर दी है। इस बीच पुलिस ने शनिवार को इस मामले में दो अन्य आरोपियों को गिरफ्तार किया है। अलीगढ़ में बच्ची से दिल दहला देने वाली वारदात पर देशभर में आक्रोश की लहर है। वहीं, मामले की जांच कर रही एसआईटी की टीम को आशंका है कि हत्या के बाद बच्ची के शव को फ्रिज में रखा गया था।

मेहदी और जाहिद की पत्नी गिरफ्तार

शनिवार को वारदात को अंजाम देने वाले तीसरे आरोपी मेहदी हसन के अलावा चौथी महिला आरोपी (जाहिद की पत्नी) को भी पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। आरोपियों से हत्या के मामले में पूछताछ की जा रही है। मेहदी हसन और महिला आरोपी से पहले इस मामले में पकड़े गए जाहिद और असलम को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया था। जाहिद की पत्नी को गिरफ्तार करने पहुंची पुलिस को घर में रखा फ्रिज साफ-सुथरा मिला है। ऐसे में पुलिस को आशंका है कि बच्ची की हत्या के बाद शव को फ्रिज में रखा गया।

शव फेंकने के बाद फ्रिज साफ किया?

सूत्रों के मुताबिक पुलिस को मौका मुआयना करने के बाद लग रहा है कि शव को फेंकने के बाद फ्रिज को साफ किया गया। पुलिस सभी बिंदुओं को ध्यान में रखते हुए जाहिद की पत्नी और मेहदी से पूछताछ कर रही है। एसएसपी अलीगढ़ का कहना है, ‘ढाई साल की बच्ची की हत्या के मामले में मुख्य आरोपी जाहिद और उसकी पत्नी समेत 4 लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है। बच्ची का शव जाहिद की पत्नी के कपड़े में लपेटा हुआ था। हमने पीड़ित परिजनों से मुलाकात की है और उनकी मांग है कि आरोपियों को फांसी पर लटकाया जाए। मामले में चार्जशीट जल्द फाइल की जाएगी।

फास्ट ट्रैक कोर्ट में ले जाया जाएगा मामलाः एसएसपी

शनिवार को जिले के डीएम और एसएसपी ने पीड़ित परिवार से मुलाकात की और उन्हें पूरी सुरक्षा का आश्वासन देते हुए कहा कि पूरा प्रशासन उनके साथ है। इसके अलावा डीएम ने पूरी घटना की जांच मैजिस्ट्रेट से कराने की घोषणा की है। पीड़ित परिवार की आर्थिक स्थिति को देखते हुए मदद दिलाने का भी आश्वासन दिया गया है। एसएसपी आकाश कुलहरि ने कहा, ‘इन आरोपियों के खिलाफ जल्द से जल्द चार्जशीट दाखिल कर मामला फास्ट ट्रैक कोर्ट में ले जाया जाएगा ताकि इन्हें जमानत नहीं मिल सके। साथ ही आरोपियों के खिलाफ रासुका के तहत भी कार्रवाई की जाएगी।

5 पुलिसकर्मी किए गए थे सस्पेंड

बच्ची से बर्बरता की लोगों ने सोशल मीडिया पर भी तीखी आलोचना की है। बता दें कि मामला तूल पकड़ने के बाद गुरुवार देर रात पांच पुलिसवालों को सस्पेंड कर दिया गया था। आरोप है कि बच्ची जब गायब हुई थी तो इन्होंने रिपोर्ट नहीं लिखी थी और जांच में भी देरी की। पीड़ित परिवार ने जब प्रदर्शन शुरू किया और आत्महत्या की धमकी दी, तब पुलिस जागी और दो लोगों की गिरफ्तारी की गई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *