बिजली कटौती के वायरल ऑडियो में यह हुई थी बातचीत!

 

 

 

 

 

(ब्यूरो कार्यालय)

भोपाल (साई)। एक ऑडियो वायरल हुई है। जिसमें 2 लोग बिजली कटौती की साजिश रचते हुए बात कर रहे हैं। कांग्रेस का दावा है कि भाजपा और आरएसएस के लोग सरकार को अस्थिर करने के लिए ऐसा कर रहे हैं।

हालांकि इसकी जांच अब तक शुरू नहीं हुई है और कांग्रेस ने यह भी नहीं बताया कि ये आवाजें किसकीं हैं, बस एक संवाद है। ऑडियो वायरल होने के तत्काल बाद मंत्री पीसी शर्मा ने भाजपा और संघ पर सरकार को कमजोर करने के आरोप लगाए।

पढ़िए ऑडियो में क्या बातचीत हो रही है

पहला- हैलो..हां राजीव..

दूसरा- हां जी सर…

पहला – मैं यह पूछ रहा था कि कोलार में हुआ है हंगामा, ऐसे ही कुछ कराओ प्रदेश में…

दूसरा – हां..

पहला- और सुनो..सुनो..मैं यह बोल रहा हूं अभी यह चुनाव आ रहे हैं, हिन्हा..और रतलाम बढ़िया चुनाव आ रहे हैं तो जरा वहां पर ज्यादा फोकस करो, जितनी ज्यादा हो सके उतनी ज्यादा बिजली काटो..

दूसरा – हां सर, वैसे हमारी कोशिश तो है भोपाल में भी हमने ये गोविंदपुरा, आनंदनगर, पिपलानी, बरखेड़ा, कोलार और सभी जगह पांच-पांच मिनट के लिए काट रहे हैं।

पहला – नहीं..पांच-पांच मिनट क्या होता है यार…सुनो तुम मैं जो बोल रहा हूं वो करो, कम से कम आधा घंटा बिजली कटनी चाहिए।

दूसरा- नहीं सर, अभी हां सर, वही इंदौर में भी सर हमनें रऊ,रजवाड़ा और छतरपुर में भी दो जगह काटी है सर, सभी जिलों..।

पहला- सुनो, मैंने जो बोला वो करो आप। छोटे जिलों पर ज्यादा फोकस करो..ठीक है। ज्यादा से ज्यादा बिजली काटो और सरकार के खिलाफ इतना विरोध करा तो कि जिसका कोई हिसाब न हो..कमलनाथ को खूब बदनाम करो..ठीक है..सरकार को खूब बदनाम करो.. कोई दिक्कत की बात नहीं है..जितनी हो सके उतनी बिजली काटो..

दूसरा- सर…अभी सरकार अभी एक्शन में है, कभी सस्पेंड बगैरह न हो जाऊं..

पहला-क्या बात कर रहे हो यार तुम, मैं तो बैठा हंू यहां, क्या टेंशन है तुम्हें..

दूसरा- हां सर,थोडी पेमेंट मेंमेंट हो जाती कुछ

पहला- क्या पेमेंट हो गई, कितनी?

दूसरा – अभी 17 हो गए हैं..और कुछ हो जाता, क्योंकि नीचे जो है नीचे और लोगो को भी है, अधिकारी लोगों भी और भी लोगों को देना पड़ता है सर..

पहला- चलो मैं करा दूंगा उसकी टेंशन नहीं है..कितना और..

दूसरा- अभी तो 17 आ गए हैं और कर देते आप..

पहला – चलो मैं करा दूंगा और करा दूंगा, 15-20 करा दूंगा, उसकी िचंता मत करो तुम, जितना हो सके उतना कमलनाथ को बदनाम करो, सरकार को बदनाम करो

दूसरा – ठीक है सर, अभी आधे-आधे घंटे..

पहला – कम से कम आधा घंटा बिजली कटनी चाहिए..

दूसरा- जी.. बिल्कुल सर बिल्कुल..अभी हम आधे-आधे घंटे और सभी जगह आज काट देते हैं

पहला – गांव ज्यादा काटो, गांव में डेड़ घंटे काटो

दूसरा – हां सर..

पहला – कोई दिक्कत की बात नहीं…डेड़ घंटे बिजली काटो

दूसरा- ठीक है सर, आज ही हम आधे-आधे घंटे काट देते हैं सभी जगहों पर…

पहला- और मैं यह बोल रहा हूं कि फोन लगाना बार-बार मत करो..आप तो डायरेक्ट मिलो..रिकॉर्डिंग आज कल होने लगी हैं, ये बहुत दिक्कत की लाइनें हैं..आप तो फेस टू फेस बात करो मुझसे..मिलो जहां आप बोलोगे मैं वहां आ जाऊंगा, या आप आ जाना..कोई ऐसी बात नहीं है, ऑफिस में मिल लेना….

दूसरा – ठीक है ठीक है सर, बिल्कुल

पहला – चलो ठीक है

दूसरा- ठीक है सर, धन्यवाद सर…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *