ई-टिकट के अवैध कारोबारी लगभग 1.5 लाख टिकट के साथ गिरफ्तार

 

 

 

 

(ब्यूरो कार्यालय)

जबलपुर (साई)। गर्मी के सीजन में जब आम यात्रियों को एक कन्फर्म टिकट नहीं मिल रही है, ऐसे में ई-टिकट का अवैध कारोबार कर रहे शहर के दो ट्रेवल एजेंट मिलौनीगंज में दीपेश गोस्वामी (Deepesh Goswami) पिता रामजी गोस्वामी और गोरखपुर में सुरेश बचवानी (Suresh Bachwani) पिता संतूमल बचवानी के ठिकानों पर छापेमारी कर RPF ने ऑपरेशन थंडर के तहत गुरुवार की शाम 1 लाख 23 हजार 405 रुपए की टिकट, रिजर्वेशन फॉर्म और कैश जब्त किया है। 

कार्रवाई के दौरान आरपीएफ को कई कई ऐसे दस्तावेज और मोबाइल नम्बर मिले हैं, जिनके साथ मिलकर ये दोनों ई-टिकटिंग का अवैध कारोबार कर रहे थे। आरपीएफ पोस्ट प्रभारी वीरेन्द्र सिंह ने बताया कि दोनों ट्रेवल एजेंट पर लंबे समय से नजर रखी जा रही थी और उसके संपर्क में आने वाले लोगों की भी निगरानी जारी थी। गुरुवार को रेकी के आधार पर शाम के समय दोनों ट्रेवल एजेंसियों के ठिकानों पर छापेमारी की गई, जिसमें दीपेश गोस्वामी के पास से 32 ई-टिकट जब्त किए गए, जिनकी कीमत 69,540 रुपए है। जबकि सुरेश बचवानी के पास 24 तैयार ई-टिकट मिले, जिनकी कीमत 53,865 रुपए है।

आरपीएफ पोस्ट प्रभारी श्री सिंह ने बताया कि स्पेशल टीम ने जब दोनों ट्रेवल एजेंटस के ठिकानों पर छापेमारी की तो ये जानकारी हैरानी हुई कि वो पर्सनल यूजर आईडी का आयोग कर अवैध तरीके से टिकट की बुकिंग का काला कारोबार कर रहे थे। आरोपियों से जब्त की गई 56 ई-टिकट्स की पड़ताल आईआरसीटीसी ने की गई, तो यह बात सामने आई कि एजेंट्स अनाधिकृत रूप से काफी पहले से टिकट बुकिंग करते आ रहे हैं। दोनों ट्रेवल एजेंटस के ठिकानों से कम्प्यूटर जब्त किए गए हैं। इन कम्प्यूटर्स की हार्ड डिस्क की चैकिंग की जाएगी, जिसमें अवैध तरीके से की जा रही ई-टिकटिंग के पुराने रिकॉर्डस का भी खुलासा होने की संभावना है। इसी के साथ कई रिजस्टर और डायरीज भी जब्त की गई हैं, जिनमें कई लोगों के नाम और मोबाइल नम्बर हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *