जर्जर पुल पर जान जोखिम में डालकर ‘मझधार’ पार करते हैं ग्रामीण

 

 

 

 

(ब्‍यूरो कार्यालय)

दमोह (साई)। मध्य प्रदेश में सरकारी विकास के दावों के बीच दमोह जिले से आम लोगों हो रही परेशानी की कुछ तस्वीरें शुक्रवार सुबह सामने आई हैं।

दमोह जिले के एक गांव में कुछ लोग यहां एक जलाशय को जर्जर पुल के सहारे पार करने को मजबूर है। बताया जा रहा है कि जलाशय को पार करने के लिए लकड़ी का बना एक जर्जर पुल ही लोगों का सहारा है और हर रोज दर्जनों लोग अपनी जान जोखिम में डालकर इस पुल को पार करते हैं।

बता दें कि दमोह की यह तस्वीरें उस वक्त सामने आई हैं, जबकि राज्य में भारी बारिश के कारण यहां बाढ़ की स्थितियां बनी हुई हैं। गांव के लोगों का कहना है कि पिपरिया गांव में हर रोज इस जर्जर पुल को पार करने के चक्कर में लोग पानी में गिरते हैं, लेकिन प्रशासन ने इसकी कोई सुध नहीं ली है। वहीं पठारिया पंचायत की मुख्य कार्यकारी अधिकारी ने कहा कि इस पुल के निर्माण का काम करने वाली एजेंसी ने इसका आधा काम ही पूरा किया है और अब उसे पुल को जल्द पूरा करने के निर्देश दिए हैं।

प्रशासन तैनात करेगा आपदा प्रबंधन विभाग की टीम

दमोह की उपजिलाधिकारी भारती मिश्रा ने इस मामले पर बात करते हुए कहा ग्रामीणों द्वारा पुल को ऐसे पार करने जान जोखिम में डालने जैसा है। उन्होंने कहा कि प्रशासन ने इस गांव को बाढ़ प्रभावित इलाके की श्रेणी में डालने का फैसला किया है और सुरक्षा के लिए यहां आपदा प्रबंधन विभाग के जवानों को तैनात करने का फैसला भी किया गया है। बता दें कि दमोह में बीते कुछ वक्त से हो रही भारी बारिश के कारण कई इलाकों में जलाशय उफान पर हैं, जिसे देखते हुए प्रशासन को पूरी सतर्कता बरतने के निर्देश दिए गए हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *