बारिश में भी पेयजल संकट की जद में शहर!

 

 

नवीन जलावर्धन योजना पर काँग्रेस का मौन चर्चित

(अय्यूब कुरैशी)

सिवनी (साई)। लगातार चौथी गर्मी में भीषण जलसंकट के चलते लोगों के द्वारा खासी परेशानी का सामना करने के बाद अब बारिश के मौसम में भी उन्हें पानी मुहैया नहीं हो पा रहा है। भाजपा शासित नगर पालिका को घेरने में जिला और नगर काँग्रेस कमेटियों को पसीना आता दिख रहा है।

ज्ञातव्य है कि 62 करोड़ 55 लाख (मूलतः 45 करोड़) रूपये की नवीन जलावर्धन योजना के लिये पालिका और महाराष्ट्र मूल की मेसर्स लक्ष्मी कंस्ट्रक्शन कंपनी के बीच मार्च 2015 में करार हुआ था। इस करार के तहत 11 माह अर्थात फरवरी 2016 तक कंपनी को नवीन जलावर्धन योजना का काम पूरा कर लेना चाहिये था।

नगर पालिका के उच्च पदस्थ सूत्रों ने समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया को बताया कि भाजपा शासित नगर पालिका परिषद के द्वारा इस जलावर्धन योजना में जमकर गोलमाल किया गया है। लगातार तीन सालों (लगभग 1100 दिन) के बाद भी यह जलावर्धन योजना अब तक पूरी नहीं हो पायी है।

सूत्रों का कहना है कि तत्कालीन निर्दलीय एवं वर्तमान भाजपाई विधायक दिनेश राय के द्वारा नगर पालिका को इस जलावर्धन योजना को पूरा करने के लिये निर्धारित की गयी समय सीमा से 503 दिन एवं वर्तमान जिलाधिकारी प्रवीण सिंह के द्वारा तय की गयी समय सीमा से 136 दिन ज्यादा होने के बाद भी अब तक इस योजना की क्या स्थिति है इस बारे में आधिकारिक तौर पर किसी को कुछ भी नहीं पता है।

सूत्रों ने कहा कि इस योजना के विस्तृत प्राक्कलन को दर किनार कर जिसका जो मन हुआ उसके द्वारा इस योजना का वैसा काम करवा दिया गया है। इसके परिणाम स्वरूप यह योजना भी मॉडल रोड के डिवाईडर्स आदि की तरह प्रयोगशाला में तब्दील हो चुकी है।

सूत्रों ने बताया कि बरसात आने के साथ ही अब तक इस योजना के पूरा न होने के कारण लोगों को पेयजल संकट से दो-चार होना पड़ रहा है। सक्षम लोग तो पानी के टैंकर बुलवाकर अपना काम चला ले रहे हैं पर गरीब गुरबों का आधा दिन पानी के जुगाड़ में ही निकल जा रहा है।

सूत्रों ने कहा कि शहर के 24 वार्ड के पार्षदों के द्वारा भी इस योजना के समय सीमा में पूरा न होने पर सवालिया निशान नहीं खड़े किये जा रहे हैं। कभी कभार रस्म अदायगी के लिये कुछ पार्षदों के द्वारा खतो खिताब की सियासत अवश्य कर ली जा रही है।

सूत्रों ने कहा कि प्रदेश में भाजपा की बजाय अब काँग्रेस सत्तारूढ़ हो चुकी है एवं मुख्यमंत्री कोई और नहीं वे कमल नाथ ही हैं जिन्होंने शहरी विकास मंत्री रहते हुए इस जलावर्धन योजना के लिये केंद्रीय इमदाद सिवनी नगर पालिका को दिलवायी थी। संयोग से जिला काँग्रेस कमेटी के अध्यक्ष राज कुमार खुराना हैं जो मुख्यमंत्री खेमे के माने जाते हैं, इसके बावजूद उनके द्वारा भी अपने नेता के द्वारा दी गयी सौगात को लेकर नगर पालिका को घेरने का प्रयास नहीं किया जा रहा है!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *