भानपुर खंती: 40 साल बाद कचरे के नीचे से निकली ऐसी जमीन

 

 

 

 

(ब्‍यूरो कार्यालय)

भोपाल (साई)। भानपुर खंती ( bhanpur khanti ) के साइंटिफिक क्लोजर का काम तेजी से जारी है। सूरत की प्राइवेट कंपनी यहां कचरे से कंपोस्ट खाद बनाने, बिल्डिंग मटेरियल और प्लास्टिक रिसाइकलिंग प्लांट लगाकर इसकी क्लोजिंग कर रही है।

दावा है कि पांच साल में 33 एकड़ में से 21 एकड़ जमीन खाली हो जाएगी। नगर निगम ( nagar nigam ) इस काम के लिए कंपनी को 52 करोड़ रुपए का भुगतान करेगा। प्लांट से निकलने वाले प्रोडक्ट नगर निगम के रहेंगे। पहले चरण में कचरे से कंपोस्ट बनाने का काम शुरू हुआ था। इसे एक साल का समय हो चुका है और अभी एक साल और लगेगा। इसके बाद अन्य प्रोडक्ट बनाने का काम शुरू होगा।

ग्रीन बेल्ट एरिया बनेगा

कंपोस्ट के बाद बचे कचरे से पेविंग ब्लॉक और बिल्डिंग मटेरियल बनाए जाएंगे। खाली होने वाली 21 एकड़ जमीन पर ग्रीन स्पेस डवलपमेंट का काम भी शुरू हो गया है। एनजीटी ने निर्देश दिए हैं कि यहां ग्रीन बेल्ट विकसित किया जाए।

धुएं से मिली मुक्ति

40 साल से भानपुर खंती में जमा कचरे के निष्पादन के लिए 300 टन क्षमता का प्लांट तैयार किया गया। इसके निष्पादन से आसपास के क्षेत्र में गंदगी और धुएं की समस्या से लोगों को मुक्ति मिलेगी। जनवरी 2017 में नगर निगम ने भानपुर खंती में कचरा डालने पर रोक लगा दी थी।

18 thoughts on “भानपुर खंती: 40 साल बाद कचरे के नीचे से निकली ऐसी जमीन

  1. Pingback: travel insurance

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *