धोखाधड़ी मामले में प्रबंधक व सेल्समेन गिरफ्तार

 

(ब्यूरो कार्यालय)

बरघाट (साई)। जिले के बरघाट थाना क्षेत्र अंतर्गत आष्टा अंखीवाड़ा समिति के खरीदी केन्द्र में दूसरी समिति की टैग लगी धान बिचौलियों के जरिये खरीदने व धोखाधड़ी के मामले में पुलिस ने फरार प्रबंधक व सेल्समेन को गिरफ्तार कर लिया है।

सोमवार को बरघाट पुलिस ने गिरफ्तार आष्टा प्रबंधक सहाय सिंह चौधरी व सेल्समेन – खरीदी प्रभारी राजकुमार दशमेर को कोर्ट में पेश कर दिया है। कोर्ट ने दोनों को जमानत पर रिहा कर दिया है। बरघाट थाना प्रभारी संतोष धुर्वे ने बताया कि फरवरी 2019 में धान खरीदी के दौरान आष्टा खरीदी केन्द्र में पुलिस ने चांवड़ी खरीदी केन्द्र की टैग लगी धान जप्त की थी।

पुलिस ने धान बेचने में लगे बिचौलिये धनीराम बघेल को भी इस मामले में आरोपित बनाया है। तीनों के खिलाफ पुलिस ने धारा 420, 511, 34 भादंवि के तहत मामला दर्ज कर प्रकरण को जाँच में लिया था। इस मामले में पुलिस ने धनीराम बघेल को पहले ही गिरफ्तार कर कोर्ट में पेश कर दिया था। मामले में फरार आष्टा सेवा सहकारी समिति के प्रबंधक सहाय सिंह चौधरी व सेल्समेन राजकुमार दशमेर को पुलिस ने 15 जुलाई को गिरफ्तार कर कोर्ट में पेश कर दिया है।

जारी है पूछताछ व जाँच : थाना प्रभारी संतोष धुर्वे ने बताया कि मामले में आरोपितों से पूछताछ कर जाँच को आगे बढ़ाया जा रहा है। पुलिस का कहना है कि पूछताछ के बाद ही इस मामले में कोई नया खुलासा हो सकेगा। केन्द्र में दूसरे केन्द्र की धान कैसे पहुँची और किन लोगों का इसमें सहयोग रहा है इसका खुलासा होना अभी बाकी है।

गौरतलब है कि धान खरीदी के दौरान प्रबंधक सहाय सिंह चौधरी ने 32 लाख रूपये की भारी भरकम राशि व्यवस्थाओं पर खर्च होना बताया है। हालाकि खर्च की गयी राशि का हिसाब प्रबंधक द्वारा संचालक मण्डल के सामने नहीं रखने पर संचालक मण्डल ने प्रबंधक को पद से हटा दिया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *