हादसे में तीन हुए कालकलवित

 

 

वन वे बना हादसे का कारण

(अपराध ब्यूरो)

सिवनी (साई)। छपारा थाना क्षेत्र के ग्राम घोघरी के पास ट्रक व कार की टक्कर से तीन लोग काल कलवित हो गये हैं। इसमें दो लोग घायल हो गये। सभी छिंदवाड़ा जिला निवासी बताये जा रहे हैं। वे गुरू पूर्णिमा पर छिंदवाड़ा से ग्वारीघाट जबलपुर जा रहे थे। इस बीच ग्राम घोघरी के पास हादसा हो गया। हादसे की वजह से लगभग आधे घण्टे तक फोरलेन पर जाम लगा रहा।

छपारा पुलिस के सूत्रों ने समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया को बताया कि छिंदवाड़ा निवासी दीनानाथ ओक्टे, श्रीमति लीना ओक्टे, कृष्णा, शकुंतला व कार क्रमाँक एमपी 28 सी 6372 का चालक साहबलाल राव ग्वारीघाट जा रहे थे। वे सुबह लगभग साढ़े 10 बजे घोघरी के पास पहुँचे थे कि सामने से आ रहे ट्रक क्रमाँक एमपी 09 एच 9921 से उनके कार की टक्कर हो गयी। ट्रक तेज गति में था, जिससे टक्कर के बाद कार के सामने का हिस्सा क्षतिग्रस्त हो गया और उसके दरवाजे खुल गये।

सूत्रों ने बताया कि इस टक्कर के चले पाँचों सवार सड़क पर गिरकर तड़फने लगे। सूचना के बाद पहुँची पुलिस की सहायता से सभी को एंबुलेंस व निजि वाहन से छपारा अस्पताल जे जाया गया, जहाँ चिकित्सक नहीं होने की वजह से सभी को जिला अस्पताल भेजा गया। जिला अस्पताल के चिकित्सकों ने दीनानाथ, लीना व कृष्णा को मृत घोषित कर दिया। दो अन्य गंभीर रूप से घायल हुए हैं। पुलिस ने मृतकों के शव को पोस्ट मार्टम के लिये भेज दिया।

गंभीर रूप से घायल कार चालक साहिब राव और श्रीमति शकुंतला को जिला चिकित्सालय सिवनी से छिंदवाड़ा रेफर कर दिया गया है। जिला चिकित्सालय में मौके पर उपस्थित चिकित्सीय स्टॉफ का कहना था कि यदि यहाँ ट्रामा केयर यूनिट सुचारू रूप से आरंभ हो जाता तो संभव था कि घुनई घाट पर हुई यह दुर्घटना इतना गंभीर रूप नहीं ले पाती।

उधर पुलिस ने मौके से ट्रक को जप्त कर चालक को हिरासत में ले लिया है। पुलिस ने इस मामले में संबंधित धाराओं में प्रकरण दर्ज कर लिया है। मृतक दीनानाथ काँग्रेस के नेता बताये जा रहे हैं। छपारा के थाना प्रभारी के अनुसार वे एक विवेचना के सिलसिले में शहर से बाहर थे, जैसे ही उन्हें इसकी सूचना मिली वे तत्काल एंबुलेंस आदि के साथ मौके पर जा पहुँचे और घायलों को अस्पताल भेजने की व्यवस्था की।

वन वे रास्ता बन रहा दुर्घटनाओं का कारण : प्रत्यक्ष दर्शियों की मानंे तो घोघरी के पास फोरलेन निर्माण की वजह से निर्माणदायी कंपनी ने इस मार्ग को वन-वे कर दिया था। सुबह लगभग साढ़े दस बजे जब कार घोघरी के पास पहुँची तो सामने से (जबलपुर की ओर से) एक कंटेनर व ट्रक आ रहे थे।

प्रत्यक्ष दर्शियों के अनुसार इन वाहनों की गति बहुत ज्यादा थी, जिसके चलते कार व ट्रक चालक का वाहन पर नियंत्रण नहीं रहा और टक्कर हो गयी। बताया गया कि जबलपुर की ओर से आने वाले वाहन विपरित दिशा से चल रहे थे। यदि उनकी गति कम होती और कंटेनर, ट्रक एक साथ पूरे सड़क पर नहीं चलते तो यह हादसा नहीं होता।

प्रत्यक्ष दर्शियों ने बताया कि उक्त स्थान पर लगातार हादसे हो रहे हैं। ऐसे में निर्माणदायी कंपनी पर सड़क निर्माण में सही मापदण्ड का ध्यान नहीं रखने को लेकर सवाल खड़े हो रहे हैं।

कलेक्टर, एसपी पहुँचे मौके पर : सूचना के बाद दुर्घटना स्थल पर कलेक्टर प्रवीण सिंह व एसपी कुमार प्रतीक पहुँचे। उन्होंने मौका मुआयना करने के साथ अधीनस्थों को आवश्यक निर्देश दिये। इस दौरान पुलिस अधीक्षक कुमार प्रतीक ने मीडिया के एक सवाल के जवाब में कहा कि यदि हादसे का कारण सड़क निर्माण में सही मापदण्डों का ध्यान रखना नहीं पाया जाता है तो संबंधित निर्माणदायी कंपनी के खिलाफ भी प्रकरण दर्ज करायेंगे, इसकी जाँच करायी जायेगी।