व्यापक अधिगमन तथा मूल्यांकन कार्यशाला

 

(ब्यूरो कार्यालय)

सिवनी (साई)। सतत एवं व्यापक अधिगमन तथा मूल्यांकन कार्यशाला में पाठ्यक्रम को रोचक बनाने के लिये पाठ्य सहभागी गतिविधियों की उपयोगिता अनिवार्य है। इस बात को लेकर जिले के प्राचार्याें एवं शिक्षकों की एक बैठक स्मृति लॉन में आयोजित की गयी।

इस दौरान अनेक प्रकार की प्रतियोगिताओं के माध्यम से शैक्षणिक गुणवत्ता को लेकर टिप्स दिये गये। जिला शिक्षा अधिकारी गोपाल सिंह बघेल ने कहा कि इन गतिविधियों के संचालन से परीक्षा परिणाम में सुधार होगा। राज्य शिक्षा मिशन के जिला प्रभारी महेश गौतम ने सभी प्राचार्याें से पूर्ण समय तक गतिविधियों में शामिल होकर विद्यालय में पूर्णः सहभागिता के साथ शामिल होने की बात कही।

कार्यक्रम के दौरान उत्कृष्ट विद्यालय के प्राचार्य एवं नोडल अधिकारी आर.पी. बोरकर ने कहा कि शिक्षा विभाग शैक्षणिक गुणवत्ता को लेकर निरंतर नवाचार के क्रम में कार्य कर रहा है और इस कार्य में हम समस्त शिक्षकों की सहभागिता के माध्यम से हम आने वाले समय में परिणामों में वृद्धि कर सकते हैं।

एडीपीसी विपनेश जैन, सीसीएलई विमल ठाकुर, डी.एल. तिवारी, यतेन्द्र अग्रवाल, विजय शुक्ला, आराधना राजपूत, समशुन निशा खान, महेश सैय्याम, सुनील तिवारी, मेहफूज खान सहित अनेक लोगों की उपस्थिति में इस कार्यशाला में मार्गदर्शन दिया गया।

One thought on “व्यापक अधिगमन तथा मूल्यांकन कार्यशाला

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *