गाँव-गाँव खुले हैं मयखाने

 

 

बेरोक-टोक चल रहा ग्रामों में शराब का धंधा

(फैयाज खान)

छपारा (साई)। छपारा थानांतर्गत क्षेत्र के गाँव – गाँव में मयखाने खुले हुए हैं। कमोबेश प्रत्येक गाँव में अवैध शराब का कारोबार जमकर चल रहा है। छपारा के क्षेत्र के अंतर्गत आने वाली 54 ग्राम पंचायतों में सैकड़ों गाँवों में अवैध शराब के कारोबार से युवा पीढ़ी नशे की लत में घिरती दिख रही है।

बताया जाता है कि सरकार के नियम कायदों के अनुसार निर्धारित शराब दुकान के अलावा अन्य स्थानों से शराब बेचने की पाबंदी है। छपारा क्षेत्र के ग्रामीण अंचलों मंे मानो शराब की नदियां बह रही हैं। आबकारी विभाग के द्वारा भी अवैध शराब के कारोबार पर अंकुश नहीं लगाया जा रहा है।

ज्ञातव्य है कि मध्य प्रदेश शासन के पूर्व कृषि मंत्री गौरी शंकर बिसेन ने पूर्व में आयोजित कृषि मेले में तत्कालीन जिला पुलिस अधीक्षक के समक्ष कड़े लहजे में गाँव – गाँव में बिकने वाली शराब पर प्रतिबंध लगाने के निर्देश दिये थे, किन्तु उनके निर्देश भी आबकारी विभाग और पुलिस के द्वारा ठण्डे बस्ते के हवाले कर दिये गये।