आज हो सकती है बूंदाबांदी

 

 

उमस से निज़ात मिलने की संभावनाएं कम

(महेश रावलानी)

सिवनी (साई)। शुक्रवार की रात कुछ देर के लिये हुए झमाझम बारिश के बाद शनिवार को दिन भर उमस ने लोगों को जीना मुहाल कर दिया। घर हो या बाहर हर जगह लोग उमस से परेशान नज़र आये। वहीं सावन के चौथे दिन भी पर्याप्त बारिश न होने के कारण किसानों की पेशानी पर चिंता की लकीरें बढ़ने लगी हैं।

मौसम विभाग के सूत्रों ने समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया को बताया कि अरब सागर में हाल ही में बने सिस्टम के कारण मध्य प्रदेश में बारिश की उम्मीद बढ़ी है पर बारिश मध्य प्रदेश के किन हिस्सों में होगी यह बात हवा के रूख पर ही निर्भर करेगा, क्योंकि हवा के रूख के साथ ही बादलों का स्थान परिवर्तन होता है।

सूत्रों ने बताया कि मौसम का जो पूर्वानुमान मिल रहा है उसके अनुसार रविवार को सिवनी जिले में बदरा मेहरबान हो सकते हैं। सूत्रों ने बताया कि रविवार को महज 02 मिली मीटर और सोमवार को तीन मिली मीटर पानी गिर सकता है। इसके अलावा दोनों दिन बादलों की गड़गड़ाहट की आवाजें भी आ सकती हैं।

यहाँ यह उल्लेखनीय होगा कि आषाढ़ माह पूरी तरह से सूखा ही गया माना जा सकता है। जून माह के अंतिम दिनों में बारिश की उम्मीद पर किसानों के द्वारा बुआई आरंभ करवा दी गयी थी। इसके बाद तीन चार दिन पानी न गिरने के कारण किसान प्रसन्न थे कि उनके बीजों को अंकुरित होने का समय मिल जायेगा।

जुलाई माह के पहले पखवाड़े में जब पानी नहीं गिरा तो किसानों की पेशानी पर चिंता की लकीरें साफ दिखायी देने लगीं। किसानों को उम्मीद थी कि सावन लगते ही बदरा सिवनी में मेहरबान हो जायेंगे पर सावन के चौथे दिन भी बादलों ने किसानों को निराश ही किया है।

जानकारों का कहना है कि तेजी से हो रही वृक्षों की कटाई के कारण इस तरह की परिस्थितियां बन रहीं हैं। इसलिये बारिश में इस बार ज्यादा से ज्यादा वृक्षारोपण के लिये जिला प्रशासन को नवाचार करने की महती जरूरत महसूस होने लगी है।