नहीं आ पाई एंबुलेंस तो . . .

 

 

 

 

गर्भवती महिला को अस्पताल पहुंचाने के लिए चादर बांधकर बनाया स्ट्रेचर

(ब्यूरो कार्यालय)

विशाखापट्टनम (साई)। विकास की सीढ़ियां चढ़ते देश में अभी भी कई ऐसे इलाके हैं, जहां लोग मूलभूत जरूरतों की कमी की वजह से संघर्ष करने को मजबूर हैं। आंध्र प्रदेश के विशाखापत्तनम से ऐसी ही एक घटना सामने आई है। संपर्क मार्ग न होने की वजह से गांव में एंबुलेंस नहीं आ पाई तो परिजन और ग्रामीणों ने लकड़ी में चादर बांधकर बने अस्थायी स्ट्रेचरपर गर्भवती महिला को अस्पताल पहुंचाया। हालांकि, इस दौरान महिला और नवजात को कोई नुकसान नहीं पहुंचा है और दोनों की हालत स्थिर बताई जा रही है।

खबर के मुताबिक, विशाखापत्तनम के कोथावसला गांव में शहर से संपर्क मार्ग न होने की वजह से गांव में एंबुलेंस नहीं आ पाई। ऐसे में प्रसव पीड़ा से परेशान गर्भवती महिला को कपड़ों से बने स्ट्रेचर पर लादकर अस्पताल ले जाया गया। परिजन और ग्रामीणों की मदद से बने इस स्ट्रेचर को एक लकड़ी में चादर बांधकर बनाया गया था और इसके बीच में गर्भवती महिला को लिटाया गया था। शहर से कोई पक्का संपर्क मार्ग न होने की वजह से परिजन कच्चे रास्ते से तकरीबन 6 किलोमीटर पैदल चलकर महिला को अस्पताल ले गए।

खबर से जुड़ा एक विडियो भी सामने आया है जिसमें कुछ लोग महिला को लादकर कीचड़ और पानी भरे रास्ते से शहर की ओर ले जा रहे हैं। इनमें महिलाएं भी शामिल हैं। सड़क की हालत इतनी खराब है कि गर्भवती महिला को यहां से ले जाने के दौरान किसी भी अप्रिय घटना की संभावना से इनकार नहीं किया जा सकता था। हालांकि, प्राप्त जानकारी के मुताबिक, महिला और नवजात की हालत स्थिर है।

One thought on “नहीं आ पाई एंबुलेंस तो . . .

  1. Pingback: gateone travel

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *