वाहनों में आड़े तिरछे लिखे नंबर पढ़ना हुआ मुश्किल

 

 

(अपराध ब्यूरो)

सिवनी (साई)। नगर में वाहनों की संख्या बढ़ने के साथ ही साथ सजाने संवारने का शौक परवान चढ़ रहा है। इसके चलते वाहनों में रंगीन स्टीकर लगाकर, धड़ल्ले से चलाया जा रहा है। गौरतलब होगा कि आड़े, तिरछे व रेडियम से लिखे नंबरों से इस शौक की मार परिवहन विभाग के नियमों को पड़ती है।

समूचे जिले में तेजी से बढ़ती वाहनों की संख्या में दिनों दिन बढ़ौत्तरी हो रही है। चमचमाती कार व मोटर साईकिल भले किसे पसंद नहीं, युवाओं द्वारा नंबर प्लेटों को आकर्षक दिखाने के लिये फिल्मी कोटेशन लिखवाये जा रहे हैं। नियम अनुसार भले ही सिंपल ढंग से नंबर लिखवाने की बात कही जाये परंतु अधिकांश युवाओं के द्वारा डिजाईन किये गये नंबर ही पसंद किये जा रहे हैं।

ज्ञातव्य है कि नगर में इन दिनों ऐसे वाहन बेखौफ दौड़ रहे हैं जिनकी नंबर प्लेट में या तो नंबर ही नहीं लिखा है या फिर लिखा भी है तो उन्हें पढ़ना लोगों के बस की बात नहीं, क्योंकि वे नंबर तरह – तरह के डिजाईन लिये हुए हैं। इस वजह से नंबर पढ़ने में परिवहन विभाग को भी भारी मुश्किल होती है। ऐसे वाहनों में नंबर लिखा हो अथवा नहीं, दोनों ही एक ही बात प्रतीत होती है।

यह आलम तब है जबकि जिले भर में पुलिस के द्वारा वाहनों की चैकिंग जोर-शोर के साथ की जा रही है। इतना ही नहीं परिवहन विभाग के द्वारा भी वाहन चैकिंग का दावा किया जाता है। इसके बाद भी आँखों से काजल निकालने की तर्ज पर इस तरह के नंबर लिखे वाहन पुलिस और परिवहन विभाग के अधिकारियों की नज़रों से कैसे बच जाते होंगे, यह शोध का ही विषय है।