21 हजार की चाय सिगरेट गटक गयी ग्राम पंचायत!

 

 

भुगतान को भटक रहा दुकान संचालक!

(फैयाज खान)

छपारा (साई)। प्रदेश की संभवतः सबसे बड़ी ग्राम पंचायतों में शामिल छपारा की ग्राम पंचायत के द्वारा अपने अंतिम कार्यकाल में 21 हजार रूपये की चाय, बिस्किट, सिगरेट आदि का भुगतान नहीं किया जा रहा है।

छपारा के संतोष राजपूत नामक चाय पान दुकानदार के द्वारा ग्राम पंचायत पर आरोप लगाते हुए कहा गया है कि ग्राम पंचायत के द्वारा चाय, पान और सिगरेट के भुगतान के लिये उन्हें तरसाया जा रहा है। उन्होंने बताया कि वर्ष 2016 में ये चाय पान बुलाये गये थे जिनका भुगतान अब तक नहीं किया गया है।

उन्होंने बताया है कि 2016 में सीएम हेल्प लाईन में भुगतान दिलवाये जाने के संबंध में शिकायत की गयी थी। तत्कालीन सचिव मान सिंह विश्वकर्मा के द्वारा शिकायत यह कहते हुए सीएम हेल्प लाईन से बंद करवा दी गयी थी कि उनका भुगतान कर दिया जायेगा लेकिन भुगतान आज तक नहीं किया गया है।

इस मामले को लेकर संतोष राजपूत ने केवलारी विधायक राकेश पाल सिंह से भी मुलाकात कर पंचायत से चाय पान और सिगरेट का पैसा दिलाये जाने की गुहार लगायी है। हालांकि अब तक उन्हें कोई भुगतान नहीं दिया गया है। संतोष का कहना है कि पंचायत अब कह रही है कि कोई भुगतान बाकी नहीं है लेकिन पंचायत के कर्मचारी इस बात के गवाह हैं कि पंचायत में चाय पान सिगरेट बुलाया जाता रहा है।

इस पूरे मामले में जब सरपंच पूनम सैयाम से चर्चा की गयी तो उन्होंने कहा कि चाय का भुगतान पंचायत के द्वारा पूर्व में किया जा चुका है। उनका कहना है कि कोई भी चाहे तो पंचायत के रिकॉर्ड में दर्ज सच्चाई को देख सकता है। यक्ष प्रश्न यह भी बना हुआ है कि चाय पान का भुगतान आखिर किस मद से किया गया है!