50 हजार रुपए में बेच दी 15 वर्ष की लड़की

 

 

 

 

 

करवा दी उसकी शादी

(ब्यूरो कार्यालय)

छिंदवाडा (साई)। माहुलझिर थाना क्षेत्र में रहने वाली एक 15 साल की नाबालिग का अपहरण करते हुए उसे आरोपितों ने कोटा में बेच दिया था। इस मामले में पुलिस ने आरोपित को गिरफ्तार किया और नाबालिग को बरामद कर परिजनों को सौंप दिया। इस मामले में पुलिस ने अन्य तीन महिलाओं के खिलाफ भी अपराध कायम किया है।

माहुलझिर थाना क्षेत्र में रहने वाली एक 15 साल की नाबालिग अचानक ही घर से लापता हो गई थी। जिसकी शिकायत करीब दो साल पहले परिजन ने थाने में दर्ज करवाई थी। जहां परिजन द्वारा की शिकायत के बाद गुम इंसान कायम करते हुए मामले की जांच शुरू की गई। जांच के बाद मुखबिर से मिली सूचना पर सहायक उपनिरीक्षक दीपक सिंह यादव, आरक्षक नीरज, सौरभ मिश्रा, महिला आरक्षक मनीषा राजस्थान रवाना हुई।

जहां मिली जानकारी के बाद कोटा से नाबालिग को बरामद किया। इस मामले में जब नाबालिग से पूछताछ की गई तो उसने बताया कि उसे अपने साथ लाकर देलाखारी निवासी मीना कहार, लक्ष्मी कहार और शांति कहार द्वारा कोटा लाकर आरोपित महावीर पिता मेघराज किरार को 50 हजार रुपए में बेच दिया था।

इस दौरान बकायदा शादी भी करवाई गई थी। इस मामले में कोटा पहुंची पुलिस ने आरोपित महावीर को गिरफ्तार किया तो वहीं नाबालिग को बरामद कर लिया। इतना ही नहीं पुलिस ने तीनों आरोपित महिलाओं के खिलाफ भी अपराध कायम करते हुए मामले की जांच शुरू कर दी।

तीन महिलाओं पर पहले भी है मामला दर्ज-

जानकारी के अनुसार देलाखारी निवासी लक्ष्मी कहार, शांति कहार और मीना कहार के खिलाफ इससे पहले भी लड़की बेचने का अपराध कायम किया गया था। इससे पहले भी क्षेत्र की एक नाबालिग को मोटी रकम में तीनों महिलाओं ने बेच दिया था। इस मामले में अब पुलिस आगे की कार्रवाई में जुटी हुई है।