डॉ.धाकड़ नहीं होंगे सीएमएचओ सिवनी

 

 

राज्य शासन ने किया आदेश संशोधित, डॉ.धाकड़ जायेंगे पन्ना अस्पताल

(अखिलेश दुबे)

सिवनी (साई)। नरसिंहपुर में पदस्थ चर्चाओं में रहने के आदि हो चुके शल्य क्रिया विशेषज्ञ डॉ.प्रदीप कुमार धाकड़ का प्रभारी मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी के पद पर सिवनी किया गया तबादला राज्य शासन ने निरस्त कर दिया है। माना जा रहा है कि विधान सभा अध्यक्ष एन.पी. प्रजापति की नाराज़गी के बाद सरकार के द्वारा यह कदम उठाया गया है।

सीएमएचओ कार्यालय के उच्च पदस्थ सूत्रों ने समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया को बताया कि डॉ.धाकड़ का तबादला पहले जिला चिकित्सालय पन्ना किया गया था। इसके बाद उनके तबादला आदेश में संशोधन करते हुए उन्हें सिवनी का प्रभारी सीएचएचओ बनाया गया था। अब एक बार फिर इस आदेश में संशोधन करते हुए उनकी पन्ना की गयी पदस्थापना को यथावत रखा गया है।

उधर, स्वास्थ्य संचालनालय के सूत्रों ने समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया को बताया कि डॉ.धाकड़ की पदस्थापना में जल्दबाजी करने पर विधान सभा अध्यक्ष एन.पी. प्रजापति भी स्वास्थ्य विभाग के आला अधिकारियों की कार्यप्रणाली से खासे आहत बताये जा रहे हैं।

सूत्रों ने बताया कि पिछले विधान सभा सत्र के दौरान प्रश्नकाल में नरसिंहपुर के भाजपा विधायक जालम सिंह पटेल के एक प्रश्न के जवाब में विधान सभा अध्यक्ष एन.पी. प्रजापति के द्वारा व्यवस्था देते हुए कहा गया था कि डॉ.धाकड़ के बारे में परीक्षण करने के उपरांत विधायक की मंशा के अनुरूप कार्यवाही की जाये।

सूत्रों ने आगे बताया कि इसके बाद तबादला आदेश जारी हुए तो विधान सभा अध्यक्ष के निर्देशों की अव्हेलना करते हुए स्वास्थ्य विभाग के द्वारा डॉ.धाकड़ की पदस्थापना के आदेश जारी कर दिये गये। इस तरह संसदीय परंपराओं की अनदेखी करने से विधान सभा अध्यक्ष एन.पी. प्रजापति स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों से जमकर आहत बताये जा रहे हैं।

सूत्रों ने इस बात के संकेत भी दिये हैं कि विधान सभा अध्यक्ष के द्वारा इस मामले में अवमानना की कार्यवाही को भी अंजाम दिया जा सकता है। इसके पहले भी उनके द्वारा विधान सभा में अधिकारियों को समझाईश दी जा चुकी है पर बेलगाम अफसरशाही इस मामले में किसी की परवाह करती नहीं दिख रही है।

सोमवार को डॉ.प्रदीप कुमार धाकड़ के तबादला आदेश में संशोधन जारी होने के बाद अब सिवनी में प्रभारी सीएमएचओ के पद पर डॉ.के.सी. मेश्राम ही बने रह सकते हैं, क्योंकि इन तबादला आदेश में उनका तबादला कहीं नहीं किया गया था। समस्या तो तब आरंभ होती जब डॉ.धाकड़ आकर पदभार ग्रहण करते क्योंकि इसके बाद डॉ.मेश्राम की पदस्थापना कहाँ होती यह बात भविष्य के गर्भ में ही थी।

सूत्रों की मानें तो सिवनी में नये प्रभारी सीएमएचओ की पदस्थापना तय ही मानी जा रही है। इसके अलावा जिस तरह सीएमएचओ पद से हटने के बाद डॉ.राजेंद्र कुमार श्रीवास्तव अस्पताल के सिविल सर्जन बन गये थे उसी तरह डॉ.मेश्राम को भी अगर अस्पताल का सीएस बना दिया जाये तो किसी को आश्चर्य नहीं होना चाहिये।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *