बाघ दिवस पर निकली रैली

 

(ब्यूरो कार्यालय)

सिवनी (साई)। टाईगर जंगल की शान है बाघ बचाओ देश बचाओ जैसे नारों को लगाते हुए वन विभाग एवं स्कूली बच्चों ने 29 जुलाई को बाघ दिवस के अवसर पर स्थानीय मिशन हायर सेकेण्डरी स्कूल से रैली निकाली।

इस रैली में मुख्य वन संरक्षक शशि मलिक, जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी सुनील दुबे, डीएफओ टी.एस. सूलिया, एसडीओ पेंच शाखा आर.एस. चौहान एवं बी.पी. तिवारी तथा मिशन स्कूल के प्राचार्य अजय प्रभाकर ढबले, डी.के. गठोरिया, लक्ष्मण पटले, शैलेष नेथन की उपस्थिति में निकाली गयी।

लगभग 700 लोगों ने इस रैली में शामिल होकर बाघ के महत्व से लोगों को अवगत करवाया। मिशन स्कूल में आयोजित ड्रॉईंग प्रतियोगिता में 10 स्कूल के 500 बच्चे एवं मीडिया कर्मी उपस्थित हुए। कार्यक्रम के दौरान प्राचार्य अजय प्रभाकर ढबले ने कहा कि वर्ष 2018 में वन्य प्राणियों की घटना हुई थी तब पेंच पार्क के साथ सामान्य जंगलों में भी टाईगर के पदचिन्ह लिये गये थे।

लगातार संरक्षण से सिवनी जिले में टाईगर की संख्याओं में वृद्धि हो रही है। पेंच नेशनल पार्क में कॉलर वाली बाघिन ने अधिक शावकों को जन्म दिया है। इसे गॉड मदर का नाम भी दिया गया है। इसने लगभग 30 शावकों को जन्म दिया है। सिवनी में टाईगर के लिये यह स्थान सबसे उपर्युक्त माना जाता है।

इस कार्यक्रम के उपरांत कुरई विकास खण्ड के पेंच नेशनल पार्क स्थित ग्राम टुरिया में भी कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इसमें प्रतियोगिता में शामिल विजयी हुए बच्चों को शामिल किया गया। इस कार्यक्रम की संयोजना पेंच प्रबंधक विक्रम सिंह परिहार एवं उत्कृष्ट विद्यालय के प्राचार्य डॉ.आर.पी. बोरकर के मार्गदर्शन से बनायी गयी थी।