वन कर्मचारियों को मिला सुरक्षा व रेस्क्यू का प्रशिक्षण

 

 

(ब्यूरो कार्यालय)

लखनादौन (साई)। सोमवार को राजीव गाँधी वानकी प्रशिक्षण संस्थान लखनादौन में मुख्य वन संरक्षक शशि मलिक एवं वन मण्डल अधिकारी उत्तर सिवनी सामान्य सुश्री संध्या के निर्देश के अनुसार प्रशिक्षण संस्थान में कार्यशाला का आयोजन किया गया।

अनुदेशक वन विद्यालय एन.एस. कोरचे के समक्ष आयोजन में 2019 सत्र 39 प्रशिक्षण में विभिन्न व्रतों से आये वन रक्षकों को मुख्य वन संरक्षक उड़न दस्ता दल में पदस्थ अर्पित मिश्रा द्वारा वन्य प्राणी सुरक्षा, वन्य प्राणियों को सुरक्षित संसाधनों एवं उपकरणों से सुरक्षित रेस्क्यू कर वन क्षेत्र में सुरक्षित पुर्नस्थापित करने हेतु विशेष प्रशिक्षण दिया गया।

इस अवसर पर बताया गया कि अक्सर वन्य प्राणी वन क्षेत्रों के किनारे खेतों के खुले हुए कुंओं में गिर जाते हैं, सड़क पर दुर्घटना, या घरों में घुस जाने पर तत्काल पहुँचकर रेस्क्यू करना, साथ ही सरीसृपों का आवासीय स्थानों से सुरक्षित रेस्क्यू कर उन्हें सुरक्षित छोड़ने की विधियों से अवगत कराया गया। साथ ही सर्पदंश प्रबंधन स्नेक रेसक्यू हैण्डलिंग, कार्य का प्रशिक्षण भी दिया गया।

अर्पित मिश्रा द्वारा पूर्व में दिये गये प्रशिक्षण उपरांत मध्य प्रदेश के विभिन्न वृतों से प्रशिक्षित वनरक्षकों ने रेस्क्यू कार्य प्रारंभ किया गया है जिसके चलते संकट में फंसे वन्य प्राणियों को रेस्क्यू करने का कार्य उत्कृष्टता से निरंतर किया जा रहा है।

कार्यशाला में वनपाल नेतराम सनोडिय, गणेश प्रसाद सनोडिया, प्रवीण यादव, राजेन्द्र पन्द्रे, संजय नामदेव, व्ही.खान प्रशिक्षण में शामिल हुए।