तबादलों पर चर्चाओं का बाजार गर्माया!

 

 

जिले के अंदर हो रहे तबादलों पर लगने लगे सवालिया निशान!

(सादिक खान)

सिवनी (साई)। जिले के अंदर (विदिन डिस्ट्रिक्ट) हो रहे तबादलों और निरस्तीकरण को लेकर सियासी फिजा में चर्चाओं का बाज़ार गर्माता रिख रहा है। लोग इसमें लेन देन की बातें भी जमकर करते दिख रहे हैं।

काँग्रेस के एक नेता ने पहचान उजागर न करने की शर्त पर समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया से चर्चा के दौरान कहा कि पिछले दिनों पेंच नेशनल पार्क के संचालक विक्रम सिंह का तबादला आदेश जारी हुआ था। उनके तबादला आदेश में किसी अन्य अधिकारी का तबादला नहीं किया गया था। इसके अगले ही दिन उनका तबादला निरस्त भी कर दिया गया।

उन्होंने बताया कि इसी तरह सिंचाई विभाग में उप यंत्रियों एवं सहायक यंत्रियों के तबादला आदेश भी पिछले दिनों जारी हुए थे। इनमें कुछ उपयंत्रियों को चालू प्रभार (करंट चार्ज) दिया गया था। इसमें से एक आदेश को जिले के एक विधायक के द्वारा निरस्त करवा दिया गया था।

उनका कहना था कि इस पूरे मामले में जमकर लेन देन की बातें भी सामने आ रही हैं। सिवनी में निवास करने वाले एक उपयंत्री अब अपना तबादला आदेश निरस्त होने पर पेशगी में दी गयी रकम वापस लेने के लिये चक्कर काट रहे हैं, पर उनसे यह कहा जा रहा है कि वे नया स्थान बतायें जहाँ उन्हें पदस्थ करवाया जा सके!

उक्त काँग्रेसी नेता ने कहा कि इस तरह तबादला उद्योग तो भाजपा के राज में भी जिले के अंदर नहीं चला जिस तरह का तबादला उद्योग वर्तमान में काँग्रेस के शासनकाल में चलता दिख रहा है।