भारी वाहनों के बीच से गुजर रहे ऑटो!

 

 

आरटीओ पुलिस चैकिंग से शालेय वाहनों ने बदला रास्ता

(ब्यूरो कार्यालय)

सिवनी (साई)। तू डाल – डाल तो मैं पात – पात की तर्ज पर जिले में शालेय परिवहन में लगे वाहन चालकों के द्वारा अब नये रास्ते खोज लिये गये हैं। अब शालेय वाहनों के चालकों के द्वारा विद्यार्थियों को पुराने बायपास जिस पर भारी वाहन अंधाधुंध गति से भागते हैं से लाना ले जाना आरंभ कर दिया गया है।

ज्ञातव्य है कि वर्तमान में शालेय परिवहन में लगे ऑटो, छोटा हाथी आदि वाहनों की चैकिंग का काम परिवहन विभाग और पुलिस के द्वारा किया जा रहा है। दोनों ही विभागों के अधिकारी, कर्मचारियों का नज़ला जबलपुर रोड स्थित शालाओं में जाने वाले छोटे वाहनों पर ही टूटता दिख रहा है।

एक पालक ने पहचान उजागर न करने की शर्त पर समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया से चर्चा के दौरान कहा कि उनके बच्चे पहले आठ बजे ऑटो से शाला जाते थे, पर दो दिनों से ऑटो चालक के द्वारा उनके बच्चों को सात बजे तैयार रहने के लिये कहा गया है। उन्होंने कहा कि जब उन्होंने अपने बच्चों से इस बारे में दरयाफ्त की तो पता चला कि ऑटो चालक के द्वारा सभी बच्चों को लेकर पहले महर्षि स्कूल जाया जाता है, वहाँ से बच्चों को लेकर ऑटो बायपास से शहर के अंदर आने वाले मार्गों से होते हुए शाला आते और जाते हैं।

उक्त पालक का कहना था कि बायपास पर चलने वाले डंपर्स और अन्य भारी वाहनों की गति वैसे भी बहुत ही अधिक होती है। इन परिस्थितियों में अगर कोई हादसा हो गया तो इसके लिये जिम्मेदार कौन होगा। इस मामले में पालकों ने प्रशासन के ध्यानाकर्षण की जनापेक्षा व्यक्त की है।