विपक्ष में रहते की माँग, अब भूले!

 

 

काँग्रेस अपनी ही माँगों को रही बिसार!

(ब्यूरो कार्यालय)

सिवनी (साई)। काँग्रेस जब तक प्रदेश में विपक्ष में रही, काँग्रेस के द्वारा स्थानीय स्तर पर अनेक माँगें रखी गयीं, किन्तु जैसे ही काँग्रेस की सरकार प्रदेश में काबिज हुई वैसे ही काँग्रेस के नेताओं ने इन माँगों की ओर से मुँह मोड़ लिया है।

सोशल मीडिया पर चल रहीं चर्चाओं के अनुसार 2018 के अंत तक काँग्रेस के नेताओं के द्वारा मॉडल रोड, जलावर्धन योजना, संबल योजना के कार्ड के मुद्रण आदि के मामलों में जमकर बयानबाजी की जाती रही है। इसके बाद दिसंबर 2018 के उपरांत जब काँग्रेस सत्तारूढ़ हुई उसके बाद से काँग्रेस के नेताओं ने अपनी ही माँगों पर जाँच करवाने की बजाय इन मामलों मे ंमौन ही साध लिया है।

सोशल मीडिया में चल रही चर्चाओं के अनुसार इस साल फरवरी माह में जिला काँग्रेस के उपाध्यक्ष एवं प्रवक्ता जकी अनवर खान के निधन के बाद काँग्रेस के नेताओं के द्वारा अस्पताल प्रशासन पर लापरवाही के आरोप लगाये गये थे। इस बात की शिकायत जिला काँग्रेस अध्यक्ष राज कुमार खुराना के द्वारा मुख्यमंत्री से भी की गयी थी।

बताया जाता है कि मुख्यमंत्री कार्यालय से इस मामले की जाँच के निर्देश मार्च माह में होने के पाँच माह बीत जाने के बाद अब तक इस मामले की जाँच कहाँ तक पहुँची इस मसले में काँग्रेस ने मौन ही साधे रखा हुआ है।

इसके अलावा सिवनी जिले को सत्तर के दशक में मिनी मेडिकल कॉलेज़ के अस्पताल जैसे जिला चिकित्सालय की सौगात देने वाली आयरन लेडी सुश्री विमला वर्मा के निधन के बाद उनकी पार्थिव देह को अस्पताल से ले जाते समय स्ट्रेचर को धकेलने के लिये वार्ड ब्वाय तक उपलब्ध नहीं हो सके थे। स्ट्रेचर को जिला काँग्रेस अध्यक्ष राज कुमार खुराना के द्वारा भी धक्का लगाया गया था। इस मामले में अस्पताल प्रशासन की लापरवाही पर जिला काँग्रेस और नगर काँग्रेस ने पूरी तरह मौन ही अख्तियार किया हुआ है।