एसडीओपी की खोयी रिवॉल्वर हुई जप्त!

 

 

शातिर आरोपियों को छिंदवाड़ा पुलिस ने किया गिरफ्तार

(अय्यूब कुरैशी)

सिवनी (साई)। छिंदवाड़ा जिले के उमरानाला में बीते दिनों डली डकैती के कुछ आरोपियों को छिंदवाड़ा पुलिस ने धर दबोचा है। इनके पास से असलहा भी बरामद किया गया है। इनके पास मिले हथियारों में एक रिवॉल्वर भी मिली है जो जिले के घंसौर में पदस्थ एसडीओपी की चोरी गयी रिवॉल्वर हो सकती है।

छिंदवाड़ा पुलिस सूत्रों ने समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया को बताया कि छिंदवाड़ा पुलिस के हत्थे जो आरोपी चढ़े हैं उन्होंने मध्य प्रदेश और महाराष्ट्र के अनेक घरों में डकैती की घटना को अंजाम दिया है। इन आरोपियों ने छिंदवाड़ा जिले के जामई से एटीएम मशीन काटकर रूपये लूटे थे, वहीं छिंदवाड़ा की ही उमरानाला पुलिस चौकी के अंतर्गत एक घर में मुखिया की हत्या कर नकदी और गहने लूटे थे।

सूत्रों ने बताया कि छिंदवाड़ा पुलिस के द्वारा इस घटना में शामिल चार डकैतों को पकड़ने में सफलता हासिल की गयी है। इनके पास से एक रिवॉल्वर, एक देशी कट्टा, जिन्दा कारतूस, 04 लोहे की रॉड, पुलिस की वर्दी, स्विफ्ट कार एवं दो टीन ब्लेक स्प्रे बरामद किया गया है। ब्लेक स्प्रे का उपयोग इनके द्वारा सीसीटीवी कैमरे में डालने के लिये किया जाता था।

सूत्रों ने बताया कि पुलिस दल के द्वारा जिन आरोपियों को पकड़ा गया है उनमें सिवनी जिले के नैना पिपरिया निवासी रमेश उर्फ रोजगारी (30) पिता गोकुल ठाकरे, छिंदवाड़ा जिले के बिछुआ के डोंगरगाँव निवासी देवा (36) उर्फ देवराव पिता नेतराम किरार, महाराष्ट्र के भण्डारा के ग्राम बेला निवासी रवि उर्फ महाराज (30) पिता राम प्रसाद दुबे, चेतन (33) पिता रमेश गायधने शामिल हैं।

सूत्रों ने बताया कि इनमें से एक आरोपी फरार बताया जा रहा है। शेष आरोपियों की तलाश के लिये पुलिस दल मण्डला, नैनपुर और अन्य स्थानों पर तलाशी अभियान जारी रखे हुए है। सूत्रों ने यह भी कहा कि आरोपियों के पास आरक्षक की वर्दी मिलने के बाद इस संभावना को भी टटोला जा रहा है कि कहीं कोई पुलिस कर्मी तो इन डकैतों से मिला हुआ नहीं है!

सूत्रों की मानें तो इनके पास से मिली रिवॉल्वर को इनके द्वारा संभवतः सिवनी जिले के घंसौर में पदस्थ एसडीओपी सुश्री श्रृद्धा सोनकर के निवास से 17 एवं 18 मई को चोरी कर लिया था। सूत्रों ने कहा कि अभी आरोपियों से सघन पूछताछ की जा रही है, इसलिये इस बात की पुष्टि रविवार तक होने की संभावना है कि उनके द्वारा रिवॉल्वर कहाँ से चोरी की गयी थी।

सूत्रों ने बताया कि इस बात की जानकारी लगते ही पुलिस अधीक्षक सिवनी के द्वारा भी एक जाँच दल को छिंदवाड़ा रवाना कर दिया गया है। यह दल आरोपियों से पूछताछ करेगा कि उनके द्वारा यदि एसडीओपी घंसौर की सरकारी रिवॉल्वर चोरी की गयी थी तो चोरी की घटना को किस तरह अंजाम दिया गया था।