सड़क पर लगा बकरा बाजार, थमी शहर की रफ्तार

 

 

 

 

(ब्‍यूरो कार्यालय)

भोपाल (साई)। मैदा मिल से सुभाष नगर क्रॉसिंग तक प्रस्तावित मेट्रो ट्रेन के लिए निर्माण कार्य शुरू होने से पहले ही सड़क संकरी हो गई है। उधर त्योहार को देखते हुए सड़क किनारे बकरा बाजार लग गया है। जिसके चलते शाम ढलते ही इस क्षेत्र में जाम लगना आम बात हो गई है। इसी क्रम में शुक्रवार को शाम 05:30 बजे से करीब 2 घंटे तक यहां जाम की स्थिति बनी रही।

विकल्प के रुप में यहां से निकलकर वाहन रचना नगर अंडर ब्रिज और चेतक ब्रिज की तरफ पहुंचे,तो अचानक कई गाड़ियों के पहुंचने से वहां भी वाहन करीब आधा घंटे तक जाम में फंसकर रह गए। इस दौरान सुभाष नगर क्रॉसिंग के पास ट्रैफिक के दो पुलिसकर्मी मौजूद तो थे,लेकिन हालात के सामने व असहाय थे।

शुक्रवार शाम को करीब 05:30 बजे जो भी वाहन चालक मैदा मिल से सुभाष नगर की तरफ या फिर स्लाटर हाउस की तरफ से मैदा मिल की तरफ बढ़ा,वह जाम में फंसकर रह गया। इस दौरान सैकड़ों वाहन चालक फंसकर रह गए। इस दौरान जिन लोगों ने किसी तरह अपनी गाड़ी वहां से निकालकर विकल्प के लिए रचना नगर अंडर ब्रिज,चेतक ब्रिज का रास्ता पकड़ा,वे वाहनों की भीड़ में फंसकर रह गए। नरेला में रहने वाले गोविंद शर्मा शाम 530 बजे एमपी नगर आने के लिए अपनी बाइक से रवाना हुए। लेकिन सुभाष नगर अंडर ब्रिज से निकलते ही वह जाम में फंस गए। करीब एक घंटे बाद वह किसी तरह एमपी नगर पहुंच सके।

अशोकागार्डन में रहने वाले संजय विश्वकर्मा ने बताया कि वह शाम को पर्यावास भवन स्थित दफ्तर से घर जाने के लिए अपनी बाइक से निकले थे। शाम करीब पौने छह बजे वह मैदा मिल के पास जाम में फंस गए। सड़क के किनारे बकरों की मंडी और आधी सड़क पर मेट्रो ट्रेन के लिए लगे बेरीकेड्स के कारण वाहन बुरी तरह फंस कर रह गए। वे करीब 45 मिनट बाद वहां से किसी तरह निकलकर घर की तरफ जाने में कामयाब हुए। जिला उपभोक्ता फोरम के सदस्य सुनील श्रीवास्तव भी काफी देर तक इस जाम में फंसकर परेशान होते रहे।

क्यों बन रहे जाम के हालात

दरअसल ईद के मद्देनजर राजधानी में बकरों की खरीद फरोख्त बढ़ गई है। मैदा मिल के सामने से स्लाटर हाउस तक सड़क किनारे सुबह से ही बकरों की मंडी लग जाती है। बकरे के व्यापारियों के वाहन और खरीदारों के दो और चार पहिया वाहन भी सड़क पर खड़े रहते हैं। इसके अलावा सौदा पट जाने पर बकरा ले जाने के लिए लोडिंग ऑटो,पिकअप वाहन भी वहीं खड़े रहते हैं। इससे दिन भर अधोषित जाम की स्थिति बनती है। उधर शाम को 5 बजे के बाद दफ्तरों,शिक्षण संस्थानों की छुट्टी होते ही इस सड़क पर भीड़ बढ़ना शुरू होती है।

इससे हालात और बदतर हो जाते हैं। इस बाजार के कारण दूसरे रास्ते का विकल्प देखते हुए एक साथ कई वाहन चालक जब रचना नगर अंडर ब्रिज,चेतक ब्रिज का रुख करते हैं,तो एमपी नगर जोन –1 की अंदरूनी सड़कों पर भी जाम लग जाता है।