रास्ता नहीं बना, लोग हो रहे परेशान

 

(ब्यूरो कार्यालय)

आदेगाँव (साई)। जिले के आदेगाँव क्षेत्र में पंचायत की लापरवाही व क्षेत्रीय जन प्रतिनिधियों की उदासीनता के चलते अनेकों मूलभूत सुविधाओं का अभाव बना हुआ है। नगर में स्वच्छ भारत अभियान की भी खुलेआम धज्जियां उड़ायी जा रही हैं।

नगर सहित आसपास क्षेत्र की आस्था के केंद्र बाबा भैरव मंदिर परिसर प्राचीन किले के चारों ओर गंदगी का अंबार लगा हुआ है। कुछ स्थानीय वाशिंदों के द्वारा अपने घरों से निकली गंदगी को किले के आसपास ढेर के रूप में जमा कर दिया जाता है। इनसे पंचायत भी बेबस नज़र आती है।

पंचायत की माने तो अनेकों बार पंचायत स्तर से सभी को समझाइश देने के बावजूद लोग अपने घरों का कचरा प्राचीन किले से लगे मार्ग पर रात के अंधेरे में फेंक आते हैं जिस कारण उक्त मार्ग में गंदगी का अंबार लगा रहता है। मंदिर में आने जाने बाले दर्शनार्थियों को न चाहते हुए भी उसी गंदगी वाले मार्ग से गुजरना पड़ता है।

नगर सहित आसपास के जिलों से आने वाले सभी श्रद्धालुओं को काभी परेशानी का सामना करना पड़ता है। बारिश के मौसम में तो पूर्णतः कीचड़ से सने इस मार्ग पर पैदल चलना दूभर होता है तो वहीं वाहन चालकांे को फिसलकर गिरते देखा जा सकता है।

आश्चर्य की बात तो यह है कि पंचायत भवन से लगे हुए इस मार्ग का अभी तक सीमेंटीकरण नहीं किया गया। वर्षाें से बदहाल पड़े इस मार्ग की किसी ने खबर नहीं ली। स्थानीय वाशिंदों द्वारा पंचायत से वर्षाे से गुहार लगायी जा रही है कि किले के समीप वाले कच्चे मार्ग का सीमेंटीकरण करवाकर उसे गन्दगी से मुक्त किया जाये और जो भी वहाँ कचरा फंेकता नज़र आये उसपर दण्डात्मक कार्यवाही करना सुनिश्चित किया जाये। इससे कम से कम नगर की धरोहर के चारों ओर सफाई बनी रहेगी।

इस मार्ग पर स्थानीय लोग अपने घर की सारी गंदगी लाकर फेकते हैं. बारिश के दिनों में आवागमन में भारी समस्या का सामना करना पड़ता है। पंचायत से अनेकों बार इस मार्ग को बनाने की माँग की जाती रही है किंतु सुनने बाला कोई नहीं है.

मुकेश नेमा,

स्थानीय निवासी.

इस मार्ग पर पसरी गंदगी बारिश के पानी में बहकर लोगांे के घर तक पहुँचती है. इसी गंदगी से होते हुए मंदिर जाना पड़ता है. स्कूली बच्चे भी कई बार यहाँ फिसलकर गिरते देखे जाते हैं. शीघ्र ही मार्ग का सीमेंटीकरण किया जाना चाहिये, इससे परेशानी से छुटकारा मिल सकेगा.

जय शंकर साहू,

स्थानीय रहवासी

आसपास के रहवासियों द्वारा यहाँ कचड़ा फेंका जाता है जिनको अनेकों बार पंचायत द्वारा समझाने का प्रयास किया गया है. इस मार्ग का सीमेंटीकरण किया जाना प्रस्तावित है. जल्द ही कार्य आरंभ किया जायेगा.

दिनेश उईके, सरपंच,

ग्राम पंचायत आदेगाँव