फर्जी प्रमाण पत्र मामला : दर्ज हुई प्राथमिकी

 

 

जल्द हो सकती है कंप्यूटर सेंटर के संचालक की गिरफ्तारी

(ब्यूरो कार्यालय)

घंसौर (साई)। तहसीलदार घंसौर के डिजिटल सिग्नेचर चोरी कर फर्जी प्रमाण जारी करने वाले कंप्यूटर सेंटर के खिलाफ रविवार को घंसौर पुलिस के द्वारा घंसौर थाने में प्राथमिकी दर्ज करवा ही दी गयी।

घंसौर पुलिस सूत्रों ने समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया को बताया कि रविवार को दोपहर अनुविभागीय अधिकारी राजस्व और तहसीलदार स्वयं दोपहर के समय घंसौर थाने में प्राथमिकी दर्ज कराने पहुँचे। इसके पहले सायबर सेल का दल रविवार को सुबह ही घंसौर पहुँचा था। सायबर सेल के द्वारा रविवार को कंप्यूटर सेंटर को लगभग चार घण्टे तक खंगाला जाता रहा।

सूत्रों ने बताया कि घंसौर में दीपेश नेमा के कंप्यूटर सेंटर में तहसीलदार के डिजीटल सिग्नेचर को चोरी कर लोगों को प्रमाण पत्र जारी करने की शिकायत किये जाने पर कंप्यूटर सेंटर को सील किया गया था। इसके दूसरे ही दिन कंप्यूटर सेंटर में आम दिनों की तरह काम आरंभ हो जाने से लोगों को आश्चर्य हुआ था।

हमारे द्वारा रविवार को घंसौर थाने में कूटरचित ढंग से डिजिटल सिग्नेचर हासिल कर प्रमाण पत्र जारी करने के मामले में घंसौर थाने में दीपेश पिता राजेंद्र नेमा के विरुद्ध एफआईआर दर्ज करवायी गयी है.

अमृत लाल धुर्वे,

तहसीलदार घंसौर.