आर्टिकल 370 पर जदयू का यू-टर्न!

 

 

 

 

पार्टी सांसद बोले- अब मोदी सरकार के साथ

(ब्यूरो कार्यालय)

पटना (साई)। अनुच्छेद 370 को लेकर अब तक विरोध करते आ रही नीतीश कुमार की पार्टी जेडीयू ने अब इस मामले में यू-टर्न ले लिया है। जेडीयू के वरिष्ठ नेता और राज्यसभा सांसद आरसीपी सिंह ने दो टूक कहा है कि अब यह कानून बन गया है और कानून पूर देश में लागू होता है। ऐसे में हम सभी को इसका पालन करना चाहिए। सिंह ने कहा कि अब इस मुद्दे पर हम सभी को केंद्र सरकार के साथ होना चाहिए।

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के काफी करीबी माने जाने वाले आरसीपी सिंह ने यह भी साफ किया कि पार्टी ने आखिर संसद में इस प्रस्ताव का विरोध क्यों किया। उन्होंने कहा, ‘हमारे दिवंगत नेता जॉर्ज फर्नांडिस ने कहा था कि हम किसी भी विवादित प्रस्ताव का साथ नहीं देंगे। इसमें तीन तलाक और राम मंदिर जैसे मुद्दे भी शामिल हैं। ऐसे हम इन मामलों का विरोध कर रहे हैं। ले‍किन, चूंकि अब यह कानून बन गया है तो फिर विरोध का कोई मतलब नहीं है। अब हमें केंद्र के साथ खड़ा होना है।

नीतीश कुमार के स्टैंड से कई नेता असहमत

बता दें कि 370 के विरोध के बाद नीतीश की पार्टी में भी दो धड़े बंट गए हैं। पार्टी के भीतर कई नेताओं का मानना है कि इस बिल का समर्थन करना चाहिए था। सूत्रों के अनुसार, पार्टी के भीतर एक वर्ग है जो नीतीश कुमार के स्टैंड से असहज है। इन नेताओं ने नीतीश कुमार को अपने रुख से अवगत भी कराया है।

केसी त्यागी ने किया बचाव

जेडीयू नेता अजय आलोक ने तो नीतीश कुमार से आग्रह किया था कि वह जम्मू-कश्मीर पुनर्गठन विधेयक के खिलाफ उठाए गए रुख की समीक्षा करें। हालांकि इस बीच जेडीयू वरिष्ठ नेता केसी त्यागी ने पार्टी स्टैंड का बचाव किया है। इस मुद्दे पर सदन से वॉकआउट करने पर प्रतिक्रिया देते हुए उन्होंने कहा, ‘यह लोकनायक जयप्रकाश नारायण, राम मनोहर लोहिया और जॉर्ज फर्नांडिस जैसे दिग्गज समाजवादी नेताओं की विचारधारा के अनुरूप था।