क्या करें भईया, जल्दी में जाना है!

 

 

उफना रही है बैनगंगा नदी, बारिश के चलते बढ़ रहा जलस्तर

(सादिक खान)

सिवनी (साई)। दो तीन दिनों से रूक रूक कर हो रही बारिश के कारण जिले से उद्गमित पुण्य सलिला बैनगंगा नदी उफान पर चल रही है। बैनगंगा नदी में पानी का वेग देखते ही बन रहा है। इसके चलते एशिया का सबसे बड़ा मिट्टी का बांध भीमगढ़ का पेट भी भरता दिख रहा है।

 प्राप्त जानकारी के अनुसार जिले में अनेक स्थानों पर नदी नालों में पुल के ऊपर से पानी बह रहा है। जिलाधिकारी के द्वारा पुल पुलियों पर से पानी बहने के दिए गए निर्देशों की भी सरेआम धज्जियां उड़ाई जा रही हैं।

बताया जाता है कि सुनवारा और मझगवां के पास बैनगंगा नदी पर बना पुराना पुल जलमग्न हो चुका है। नदी में पानी का आलम यह है कि लगभग आधा सैकड़ा गांवों का संपर्क आपस में टूटा हुआ है। लोग रोजमर्रा के कामों के लिए जान जोखिम में डालकर नदी नाले पार करते भी नजर आ रहे हैं।

स्थानीय नागरिकों ने बताया कि पुल के ऊपर से बह रहे पानी के बाद भी लोग इस पर से निकल रहे हैं पर उन्हें रोकने के लिए कोई भी जिम्मेदार सरकारी नुमाईंदा मौके पर नहीं दिखाई दिया। इतना ही नहीं मौके पर लोगों को रोकने के बजाए खाकी वर्दी पहनकर हेल्मेट लगाकर एक कर्मचारी भी जान हथेली पर रखकर बाईक पार कराता दिखा। जब उक्त कर्मचारी से यह पूछा गया कि वह जान जोखिम में डालकर वाहन क्यों निकाल रहा है तो उसने मुस्कुराते हुए जवाब दिया कि क्या करें भईया, जल्दी में जाना है . . .!