केरल के गवर्नर बने आरिफ मोहम्मद खान

 

 

 

 

महाराष्ट्र के राज्यपाल होंगे भगत सिंह कोश्यारी, कलराज का राजस्थान ट्रांसफर

​(ब्‍यूरो कार्यालय)

नई दिल्‍ली (साई)। राजीव गांधी सरकार में मंत्री रहे आरिफ मोहम्मद खान को केरल का नया गवर्नर नियुक्त किया गया है। आरिफ को प्रगतिशील मुस्लिम चेहरे के तौर पर जाना जाता है।

तीन तलाक जैसे अहम मसलों पर उन्होंने मुखरता से अपनी राय रखी थी और इसे मुस्लिम महिलाओं के लिए अच्छा फैसला बताया था। आरिफ मोहम्मद खान लंबे समय से सक्रिय राजनीति से दूर थे। 1984 में शाहबानो केस में सुप्रीम कोर्ट के फैसले को संसद द्वारा कानून बनाकर पलटे जाने के विरोध में उन्होंने केंद्रीय मंत्री के पद से इस्तीफा दे दिया था।

तेलंगाना, महाराष्ट्र, हिमाचल, राजस्थान में भी नए राज्यपाल

राष्ट्रपति भवन की ओर से रविवार को जारी आदेश के मुताबिक आरिफ मोहम्मद खान के अलावा तेलंगाना में तमिलसाई सुंदरराजन को गवर्नर के तौर पर भेजा गया है। इसके अलावा उत्तराखंड के सीनियर बीजेपी नेता रहे भगत सिंह कोश्यारी को महाराष्ट्र और बंडारू दत्तात्रेय को हिमाचल प्रदेश का राज्यपाल बनाया गया है। अब तक हिमाचल के गवर्नर रहे कलराज मिश्र को राजस्थान भेजा गया है।

आरिफ मोहम्मद खान बोले, सौभाग्य है भारत में पैदा होना

गवर्नर की जिम्मेदारी मिलने पर आरिफ मोहम्मद खान ने कहा कि यह मेरा सौभाग्य है कि मुझे उस राज्य में सेवा का मौका मिलेगा, जिसे भगवान का अपना देश कहा जाता है। उन्होंने कहा कि यह मेरा भाग्य है कि मैं ऐसे देश में पैदा हुआ, जिसका कल्चर विविधतापूर्ण है। देश के उस हिस्से को जानने का यह मेरे लिए बेहतरीन अवसर है। आरिफ मोहम्मद खान ने वंदे मातरम का उर्दू में अनुवाद भी किया है। गौरतलब है कि पिछले दिनों भी कई राज्यों में गवर्नरों की नियुक्ति की गई थी। अब तक केरल में गवर्नर पूर्व चीफ जस्टिस पी. सदाशिवम थे, जिनका हाल ही में कार्यकाल खत्म हुए थे।

यूपी के बुलंदशहर में जन्मे आरिफ केंद्रीय मंत्री रहते नागरिक उड्डयन से लेकर ऊर्जा तक कई मंत्रालयों की जिम्मेदारी संभाली थी। खान केरल के गवर्नर पूर्व चीफ जस्टिस पी. सदाशिवम का स्थान लेंगे। उनका भी कार्यकाल समाप्त हो रहा है। वहीं, तमिलनाडु की पूर्व बीजेपी अध्यक्ष 58 वर्षीय सुंदरराजन पार्टी की राष्ट्रीय सचिव भी रही हैं। कोश्यारी महाराष्ट्र के मौजूदा गवर्नर विद्या सागर राव की जगह लेंगे जिनका पांच साल का कार्यकाल समाप्त हो रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *