इन 15 घरेलू चीजों से ऐसे दूर करें दांतों का दर्द

(रश्मि कुलश्रेष्ठ)

भोपाल (साई)। अक्सर हमारे खान पान में कुछ गड़बड़ियों के कारण दांतों में दर्द की समस्या हो जाती है। ठण्डा – गरम एक साथ खा लेने पर भी दांतों में दर्द उत्पन्न कर देते हैं। ऐसे ही छोटी – छोटी चीजों के कारण आप यदि डॉक्टर के पास जाते हैं तो आपको बता दें कि इसे घर बैठे ही ठीक किया जा सकता है।

दांतों के दर्द को भगाने के लिये कुछ घरेलू नुस्खे हैं, जिन्हें अपनाकर चुटकियों में दांतों के दर्द से आराम मिल सकता है। जानिये 15 घरेलू नुस्खे के बारे में, जिससे आसानी से दांत की समस्या से छुटकारा पा सकते हैं..

नमक : एक कप गुनगुने पानी में 01 चम्मच नमक मिलाएं। इस पानी को थोड़ी देर मुँह में रखकर कुल्ला करें।

लहसुन : लहसुन में एंटी बैक्टीरियल क्वालिटी होती है। लहसुन की कली को पीसकर उसमें नमक मिलाएं और दर्द वाले स्थान पर लगायें, इससे शीघ्र राहत मिलेगी।

अमरूद : कैविटी के कारण दर्द होने पर अमरूद के 4-5 पत्तों को पानी में उबालकर उस पानी से कुल्ला करें। पत्ते चबाने से भी आराम मिलेगा।

अदरक : अदरक के एंटी बैक्टीरियल और एंटी इन्फ्लेमेटरी गुणों से दर्द और सूजन दूर होते हैं। अदरक का पेस्ट लगायें या अदरक चबाएं।

बर्फ : दर्द वाले स्थान पर बर्फ रखने से ब्लड सर्कुलेशन कम हो जाता है और दर्द का अहसास नहीं होता।

फिटकरी : फिटकरी पाउडर को दर्द वाले स्थान पर रखें। लार को बाहर थूकते रहें। फिटकरी के पानी से कुल्ला करने से भी आराम मिलेगा।

लौंग : लौंग में यूजेनॉल होता है जो दर्द से राहत दिलाने में सहायक है। दर्द वाले स्थान पर लौंग का तेल लगायें या लौंग दांतों के बीच दबाकर रखें।

हींग : दांत दर्द वाले स्थान पर हींग लगायें। लार को बाहर थूकते रहें। कुछ ही देर में दर्द गायब हो जायेगा।

सरसों का तेल :

3-4 बूंद सरसों के तेल में एक चुटकी नमक डालकर दांतों और मसूड़ों की मसाज करने से दर्द दूर हो जाता है।

दालचीनी : दालचीनी में लैचुरल पेन किलर यूजेनॉल होता है। दालचीनी का पाउडर दर्द वाले स्थान पर लगायें और कुछ देर बाद थूंक दें।

तेजपत्ता : यह एक नैचुरल पेन किलर है। तेजपत्ते को पीसकर उसमें थोड़ा नमक मिलाकर दर्द वाले स्थान पर लगायें और कुछ ही देर बाद थूक दें।

कपूर : दर्द वाले स्थान पर कपूर रखने से आराम मिलता है, ऐसा करते वक्त कपूर से निकलने वाली लार को निगलें नहीं।

प्याज : प्याज में भी एंटी बैक्टीरियल क्वालिटी होती है। दर्द होने पर प्याज का टुकड़ा दांत वाले स्थान पर रखकर चबाएं।

पिपरमिंट : दर्द वाले स्थान पर पिपरमिंट रखने से ठण्डक और आराम मिलता है। पिपरमिंट ऑयल से माउथवॉश भी कर सकते हैं।

नीम : नीम में भी एंटी बैक्टीरियल होता है। नीम की दातून करें या नीम की कोमल पत्तियों को चबाएं। इसके अलावा यदि नीम का तेल हो तो दांत में दर्द होने वाले स्थान पर लगायें।

उपर्युक्त दी गयी जानकारी को जानकारों के आधार पर दांत के साधारण दर्द से राहत पाने के लिये बताया गया है। इसके अलावा यदि आपको दांत से जुड़ी कोई बीमारी हो तो सबसे पहले आप दांत के डॉक्टर को अवश्य दिखायें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *