बारिश के मौसम में बीमारियां आपको बना सकती हैं शिकार

 

 

आप जानते हैं कि बरसात में वातावरण और मौसम बीमारियां फैलने के लिए सबसे माकूल समय होता है, क्योंकि इस मौसम में नमी और पानी के कारण संक्रमण को फैलने में आसानी होती है। यही वह समय है, जब मच्छरों की पैदावार बढ़ जाती है और अधिकांश बीमारियां मच्छरों से जुड़ी होती हैं, तो बेहतर है कि बरसात के मौसम में आप मच्छरों से खुद की सुरक्षा करें। आइए जानते हैं कि बारिश में कौन-कौन सी बीमारियां आपको शिकार बना सकती हैं।

हैजा

यह बीमारी विब्रियो कोलेरा नामक जीवाणु के कारण होती है, जो कि दूषित भोज्य और पेय पदार्थों में मौजूद होता है। हैजा के कारण, पेट में लगातार ऐंठन होती है। साथ ही उल्टी-दस्त भी इस रोग के प्रमुख लक्षण हैं, जो कि आपके शरीर से पानी और आवश्यक खनिजों की कमी कर देते हैं। इन परिस्थितियों में मरीज बेहद कमजोर हो जाता है। इस रोग से बचने के लिए, खाने-पीने की वस्तुओं की सफाई का विशेष ध्यान रखें। बाजार से कटे हुए फल न खाएं और खुली सामग्री खाने से परहेज करें।

डायरिया

जीवाणुओं के संक्रमण के कारण होने वाली हैजा के अलावा दूसरी बीमारी है डायरिया। हालांकि हैजा और डायरिया के कारण, लक्षण और निवारणों में काफी समानता है। यह बीमारी खास तौर से बरसात के प्रदूषित पानी और प्रदूषित खाद्य सामग्री के सेवन के कारण होती है, अत: खाद्य पदार्थों को ढंक कर रखें, पानी उबालकर व छानकर पिएं और हाथ धोने के बाद ही कुछ ग्रहण करें।

डेंगू

अभी मानसून के पहले की बारिश ही हुई है, और मानसून पूरी तरह से सक्रिय भी नहीं हुआ है, लेकिन दिल्ली में डेंगू के कुछ मामले सामने आ गए हैं। डेंगू मच्छरों के काटने से फैलता है और ध्यान रहे, डेंगू फैलाने वाले मच्छर साफ पानी में भी पनपते हैं। एडिज मच्छर के काटने से फैलने वाले मरीज के पूरे शरीर और जोड़ों में तेज दर्द के रूप में होता है। इससे बचने के लिए मच्छरों से स्वयं का बचाव करें। घर के आसपास पानी का जमाव न होने दें, ताकि मच्छर पैदा न हों। साथ ही घर से निकलने से पहले शरीर को पूरी तरह ढंककर ही निकलें।

मलेरिया

मलेरिया आपके घर के आसपास, बरसात के कारण हे जलभराव की वजह से हो सकता है। यह बरसात में होने वाली हालांकि लेकिन काफी गंभीर संक्रामक बीमारी है, और यदि इसे गंभीरता से नहीं लिया गया, तो मरीज की जान भी जा सकती है। अपने घर के आसपास जलभराव न होने दें और ऐसा होने की स्थिति में स्थानीय नगर पालिका को सूचित करें।

चिकनगुनिया

चिकनगुनिया भी बरसात में मच्छरों से फैलने वाला बुखार है, जो कि जानलेवा भी हो सकता है। जिसका संक्रमण मरीज के शरीर के जोड़ों पर भी होता है और जोड़ों में तेज दर्द होता है। इससे बचने के लिए जलजमाव से बचें, ताकि उसमें मच्छर न पनप पाएं और आप बीमारी से बचे रहें।

(साई फीचर्स)