मार्च से जबलपुर से बालाघाट के बीच दौड़ेगी सवारी गाड़ी

 

 

 

 

(ब्यूरो कार्यालय)

जबलपुर (साई)। जबलपुर से बालाघाट तक बिछाई जा रही ब्राडगेज रेल लाइन परियोजना का काम दिसंबर तक भी पूरा नहीं होगा। इसलिए बिलासपुर रेल जोन के नागपुर मंडल के इंजीनियर को इस काम को पूरा करने के लिए और समय दे दिया गया है। उन्हें अब यह काम 23 फरवरी तक हर हॉल में पूरा करना होगा।

दरअसल रेलवे मार्च 2020 से इस ट्रैक पर पैसेंजर ट्रेनों की आवाजाही पूरी तरह से शुरू कर देगा। 229 किलो मीटर की इस ब्रॉडगेज परियोजना में अभी नैनपुर से समनापुर के बीच तकरीबन 60 किलो मीटर का ट्रैक बिछाने और उसके विद्युतीकरण का काम चल रहा है। इसे फरवरी तक पूरा कर सीआरएस के निरीक्षण कराने के बाद जबलपुर से बालाघाट ब्रॉडगेज परियोजना पूरी हो जाएगी।

समय दिया है, फरवरी तक पूरा होगा काम : पश्चिम मध्य रेलवे के जीएम अजय विजयवर्गीय इन दिनों बिलासपुर रेलवे जोन के जीएम की भी जिम्मेदारी संभाल रहे हैं। इस संबंध में उनका कहना है कि इस काम की समयसीमा 23 फरवरी तक की गई है, ताकि मार्च से इस ट्रैक पर यात्री ट्रेन शुरू की जा सके। रेलवे का दावा है कि जबलपुर से बालाघाट होकर गोंदिया ब्रॉडगेज परियोजना पूरी होने के बाद जबलपुर से दक्षिण भारत की दूरी तकरीबन में तकरीबन 200 किलो मीटर की कमी आ जाएएगी, साथ ही 05 से 06 घंटे का सफर भी कम होगा।

60 किमी का पेच बाकी : जबलपुर से नैनपुर के रेल रूट का काम पूरा होने के बाद इस पर नियमित सवारी गाड़ी का परिचालन किया जा रहा है। नैनपुर से समनापुर के बीच के लगभग 60 किलो मीटर की दूरी के अमान परिवर्तन का काम अभी पूरा नहीं हुआ है। इसी तरह समनापुर से बालाघाट के बीच अमान परिवर्तन का काम पूरा हो गया है, यहां सवारी गाड़ी का परिचालन आरंभ कर दिया गया है।

नैनपुर से मंडला के बीच नैनपुर से चिरईडोंगरी के बीच 20 किलो मीटर के इस ट्रैक पर ब्रॉडग्रेज बन गई है, इस पर पैसेंजर ट्रेनें चल रही हैं। चिरईडोंगरी से मंडला के बीच20 किलो मीटर के ट्रैक पर ब्रिज बन गया है, रेल लाइन का काम बाकी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *