मुख्यमंत्री ने सुपर स्पेशियलिटी अस्पताल का किया लोकार्पण

 

 

 

 

(ब्‍यूरो कार्यालय)

जबलपुर (साई)। मुख्यमंत्री कमल नाथ ने शनिवार को जबलपुर में विश्वस्तरीय सुपर स्पेशियलिटी अस्पताल का लोकार्पण किया। इस मौके पर चिकित्सा शिक्षा मंदिर के साथ प्रदेश के वित्त मंत्री भी मौजूद रहे।

150 करोड़ की लागत से बने इस अस्पताल में आधुनिक चिकित्सा सेवाएं उपलब्ध हैं। 220 बेड वाले अस्पताल के लोकार्पण के साथ ही सीआईआई के सहयोग से स्थापित किए जाने वाले मॉडल कॅरियर सेंटर का शुभारंभ कर अन्य विकास कार्यों की अधारशिला भी रखेंगे। जिले के प्रभारी मंत्री प्रियव्रत सिंह भी मुख्यमंत्री के साथ हैं। वह भी सभी कार्यक्रमों में शामिल होंगे।

जबलपुर में सुपर स्पेशलिटी अस्पताल का लोकार्पण करने पहुंचे मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कहा कि युवाओं में एक तड़प है। वे स्वरोजगार के लिए प्रेरित हो रहे हैं। प्रदेश में निवेश बढ़ेगा और जब ऐसा होगा तो यहां रोजगार बढ़ेगा। सरकार ने बीते साढ़े छ:मास में बेहतर कार्य किया है।

सरकार ने किसानों के लिए काम किया है। जिस तरह की राजनीति मौजूदा दौर में हो रही है वह हमारे लिए परेशानी की बात है।

उन्होंने अपील की कि भारी वर्षा से हुए नुकसान को लेकर केंद्र सरकार से मदद मांगी जानी चाहिए। उन्होंने कहा कि हम सभी मिलकर प्रदेश के साथ जबलपुर के विकास का नया इतिहास बनाएंगे। जबलपुर को इसी तरह की सौगातों से हम विकसित कर आगे बढ़ाएंगे।

मुख्यमंत्री कमल नाथ ने जबलपुर में नेताजी सुभाषचन्द्र बोस मेडिकल कॉलेज में सुपर स्पेशिलिटी हॉस्पिटल का लोकार्पण किया। अस्पताल की शुरुआत होने से मरीजों को विश्वस्तर की महानगरीय चिकित्सा सुविधाएं जबलपुर में मिलने लगेंगी। मेडिकल कॉलेज से तुलना की जाए तो स्थापना के बाद से ही हृदय रोग विभाग होने के बावजूद दिल की बीमारियों के ऑपरेशन यहां नहीं होते, लेकिन सुपर स्पेशियलिटी अस्पताल में तमाम हृदय रोगों में शल्य चिकित्सा की सुविधाा मौजूद रहेगी।

जबलपुर में मिलेगी एम्स जैसी सुविधा

डायरेक्टर डॉ. वायआर यादव का कहना है कि सुपर स्पेशियलिटी अस्पताल में एम्स जैसी चिकित्सा सुविधा मरीजों को मिल सकेगी। न्यूरो सर्जरी, न्यूरोलॉजी, यूरोलॉजी, नेफ्रोलॉजी, न्यूनेटोलॉजी, कार्डियोलॉजी, एनस्थीसिया, रेडियोलॉजी आदि की उच्च स्तरीय सुविधा के साथ ही बाईप्लेनर, एंजियोग्राफी स्थापित की गई है। ये मशीनें लकवा और हार्टअटेक के परीक्षण के साथ ही उचित उपचार भी तुरंत उपलब्ध करवा सकती है।

निजी अस्पतालों से एक तिहाई कम में ऑपरेशन

सुपर स्पेशियलिटी अस्पताल में निजी अस्पतालों के मुकाबले एक तिहाई से भी कम खर्च में ऑपरेशन व उपचार संभव होगा। डायरेक्टर डॉ. यादव ने बताया कि रेट लिस्ट को लेकर कोई निर्णय नहीं हो पाया है। परंतु आयुष्मान कार्ड धारकों को हर तरह का उपचार व ऑपरेशन मुफ्त दिया जाएगा। कार्ड न होने पर सामान्य मरीजों से आयुष्मान कार्ड के पैकेज के अनुसार शुल्क लेने पर विचार किया जा रहा है। शुल्क देने में असमर्थ मरीजों को भी उपचार मिलेगा।

इन जिलों के मरीज होंगे लाभान्वित

150 करोड़ की लागत से निर्मित सुपर स्पेशियलिटी अस्पताल की शुरुआत से जबलपुर के अलावा कटनी, मंडला, डिंडौरी, शहडोल, सिवनी, बालाघाट, शिवपुरी, दतिया, गुना, सतना, अनूपपुर, उमरिया, रीवा, विदिशा, नरसिंहपुर, खंडवा समेत कई जिलों के मरीजों को लाभ मिलेगा।

यहां ब्रेन व स्पाइन के सभी ऑपरेशन, हृदय की शल्य चिकित्सा, डायलिसिस, लेजर पद्धति से पथरी व प्रोस्टेट ग्लेंड के ऑपरेशन किए जाएंगे। अस्पताल में विश्व स्तरीय 7 माड्युलर ऑपरेशन थिएटर, उच्च स्तरीय कैथलेब, बाईप्लेनडीएसए और 30 बिस्तरीय आधुनिक आईसीयू है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *