घर पर पति बना रहा था बम, पत्नी के हाथ लगाते ही फटे

 

 

 

 

 

(ब्यूरो कार्यालय)

जबलपुर (साई)। पाटन के कटरा मोहल्ला में सिलेंडर विस्फोट में हुई 35 वर्षीय महिला की मौत और परिवार के तीन लोगों के घायल होने के मामले ने यू-टर्न ले लिया है।

विस्फोट सिलेंडर में नहीं, बल्कि घर में अवैध तरीके से बनाए जा रहे रस्सी बम और वहां रखे बारूद से हुआ था। फॉरेंसिक जांच में इसकी पुष्टि होने के बाद पाटन पुलिस ने आरोपी पुरुषोत्तम कडेरे के खिलाफ 304, 286 और विस्फोटक पदार्थ अधिनियम के तहत कार्यवाही कर रविवार को गिरफ्तार कर लिया।

लाइसेंस समाप्त होने के बाद भी बना रहा था रस्सी बम

पुलिस ने बताया कि घटनास्थल की जांच एफएसएल और बीडीएस टीम ने की थी। हादसे में जान गंवाने वाली अनीता (40) का शव छत-विक्षत मिला था। पीएम में बारूद के विस्फोट से मौत की पुष्टि हुई है। मौके से कुछ सैम्पल भी लिए गए हैं, जिनकी एफएसएल से जांच कराई जा रही है। अनीता के पति पुरुषोत्तम ने बयान में कहा था कि दोपहर डेढ़ बजे खाना बनाते समय सिलेंडर फटने से हादसा हआ था। घटनास्थल पर रेग्युलेटर से लगा हुआ चूल्हा मिला, जबकि सिलेंडर में विस्फोट होता तो रेग्युलेटर से चूल्हा अलग हो जाता।

जांच में ये भी मिला

विवेचना के दौरान पता चला कि पुरुषोत्तम अपनी मां सियाबाई के नाम पर लाइसेंस लेकर पटाखे बनाता है, जो 31 मार्च 2019 को समाप्त हो चुका है। इसके बावजूद वह पटाखे बना रहा था। पुरुषोत्तम और उसकी मां वर्ष 1995 से व्यवसाय कर रहे हैं। घर में बने रस्सी बम, खाली खोखे के अवशेष भी मिले हैं। वहां ब्लास्ट होने पर बर्तन के जो टुकड़े जब्त किए गए, वो पहचान में नहीं आ रहे हैं। हादसे में सियाबाई, प्रभा (35) व बबीता झुलस गईं हैं। 65 वर्षीय सियाबाई अब भी मेडिकल में भर्ती हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *