हनीट्रैप मामले की जांच : एसआईटी में किया गया बदलाव

 

 

 

(ब्‍यूरो कार्यालय)

भोपाल (साई)। मध्य प्रदेश पुलिस मुख्यालय ने इंदौर में दर्ज किये गये हनी ट्रैप (मोहपाश) मामले में जांच के लिये गठित विशेष जांच दल :एसआईटी: में मंगलवार को आंशिक बदलाव किया है।

मुख्यालय के ताजा आदेश के अनुसार इस एसआईटी का नेतृत्व अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक (काउंटर इंटेलीजेंस) संजीव शमी करेंगे। पुलिस मुख्यालय द्वारा जारी प्रेस विज्ञप्ति में मंगलवार को बताया गया कि इंदौर के पलासिया पुलिस थाना में गत 17 सितंबर 2019 को एक फरियादी की शिकायत पर दर्ज किए गए अपराध क्रमांक 405/19 से संबंधित घटना की जाँच व पर्यवेक्षण के लिए पुलिस मुख्‍यालय द्वारा गठित एसआईटी (विशेष जाँच टीम) में अपरिहार्य कारणों से आंशिक बदलाव किया गया है।

पुलिस महानिदेशक विजय कुमार सिंह ने अतिरिक्‍त पुलिस महानिदेशक :काउंटर इंटे‍लीजेंस: संजीव शमी को समिति के अध्‍यक्ष की जिम्‍मेदारी सौंपी है। पूर्व में पुलिस महानिरीक्षक :अपराध अनुसंधान: डी.श्रीनिवास वर्मा को समिति का अध्‍यक्ष बनाया गया था। इसके अलावा वरिष्‍ठ पुलिस अधीक्षक (एसएसपी) इंदौर शहर रूचिवर्धन मिश्र को भी एसआईटी में शामिल किया गया है।पुलिस महानिदेशक ने इंदौर के पलासिया थाने में दर्ज इस आपराधिक प्रकरण से संबंधित हर पहलू की बारीकी से जाँच कर रिपोर्ट प्रस्तुत करने के निर्देश दिए हैं।

गौरतलब है कि पुलिस ने इंदौर नगर निगम के अधीक्षण इंजीनियर हरभजन सिंह की शिकायत पर हनी ट्रैप गिरोह का खुलासा किया था। गिरोह की पांच महिलाओं समेत छह सदस्यों को भोपाल और इंदौर से गिरफ्तार किया गया था।

नगर निगम अधिकारी ने पुलिस को बताया कि गिरोह ने उनके कुछ आपत्तिजनक वीडियो क्लिप वायरल करने की धमकी देकर उनसे तीन करोड़ रुपये की मांग की थी। ये क्लिप खुफिया तरीके से तैयार किये गये थे।गिरोह पर कई रसूखदार लोगों को आकर्षक महिलाओं के जरिये जाल में फांसने का संदेह है। गिरोह खुफिया कैमरों से अंतरंग पलों के वीडियो बनाकर अपने “शिकार” को इस आपत्तिजनक सामग्री के बूते ब्लेकमैल करता था। पुलिस ने इस गिरोह के छह आरोपियों श्वेता विजय जैन, आरती दयाल, मोनिका यादव, श्वेता स्वप्निल जैन, बरखा सोनी और इनके चालक ओमप्रकाश कोरी गिरफ्तार किया है। इस मामले में विस्तृत जांच जारी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *